anant tv

भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी ने भी दस्तावेज जारी कर टीएमसी के कुछ नेताओं को अवैध संपत्तियों के मामले में घेरा है

 
as
भारतीय जनता पार्टी ने कोलकाता पोर्ट पर जब्त किए गए 200 करोड़ रुपये के ड्रग्स के तार पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के नेताओं से जोड़ दिए हैं। पार्टी का कहना है कि इस नार्कोटिक्स के आरोपी से टीएमसी नेताओं और राज्य के एक मंत्री के सीधे संबंध हैं। इधर, भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी ने भी दस्तावेज जारी कर टीएमसी के कुछ नेताओं को अवैध संपत्तियों के मामले में घेरा है। खास बात है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की सरकार में मंत्री रहे पार्थ चटर्जी पहले ही शिक्षक भर्ती घोटाले में गिरफ्तार किए जा चुके हैं। इसके अलावा पशु तस्करी मामले में अनुब्रत मंडल के खिलाफ भी कार्रवाई हुई है।

भाजपा के प्रदेश प्रमुख सुकांत मजूमदार ने गुरुवार को आरोप लगाए, 'करीब 40 किलो हेरोइन की सप्लाई शरीफुल एंटरप्राइज के नाम पर की गई, जिसके मालिक संदेशकाली के रहने वाले शरीफुल इस्लाम मुल्ला हैं। शरीफुल तृणमूल के संदेशखली ब्लॉक 1 और 2 के अध्यक्ष शिबू हजरा और शेख शाहजहां के करीबी हैं।' इस दौरान मजूमदार के साथ भाजपा महासचिव जगन्नाथ चटर्जी भी मौजूद रहे।
 
उन्होंने आरोप लगाए हैं कि पॉल्युशन सर्टिफिकेट का हवाला देकर ड्रग को पोर्ट से नहीं ले जाया गया। उन्होंने कहा, 'जब शरीफुल के घर पर रेड की गई, तो वह वहां नहीं थे। हो सकता है कि वह बांग्लादेश भाग गए हों। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी दावा करती हैं कि राज्य की सीआईडी, सीबीआई से ज्यादा लायक है। अगर ऐसा है, तो मैं चाहता हूं कि राज्य शरीफुल के ठिकानों का पता लगाए। संदेशखली का अध्यक्ष, जो शरीफुल का करीबी भी हैं, उन्होंने हाल ही में राज्य के एक मंत्री से 17-18 बार मुलाकात की है। यह बैठकें ड्रग की खेप पकड़े जाने के बाद हुई थीं।'

इधर, अधिकारी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान दस्तावेज जारी कर आरोप लगाए कि टीएमसी नेताओं की संपत्ति में असामान्य बढ़त हुई है। उन्होंने आरोप लगाए कि इसमें कुलटाली विधायक गणेश चंद्र मंडल का नाम शामिल है। भाजपा नेता का कहना है कि NREGA और अन्य केंद्रीय योजनाओं के रुपयों का गबन किया गया है। खास बात है कि भाजपा नेताओं की तरफ से राज्य के मंत्री का नाम नहीं लिया गया, लेकिन उन्होंने कहा कि 'भ्रष्टाचार' के आरोपों के बाद मंत्री का विभाग हाल ही में बदला गया था। मजूमदार ने शरीफुल की कमाई और उनकी आय के स्त्रोत की जांच की मांग की है।

अधिकारी दावा कर रहे हैं कि जारी किए गए दस्तावेज साउथ 24 परगना जिले के 4 टीएमसी नेताओं के हैं। उन्होंने आरोप लगाए, 'सत्तारूढ़ पार्टी के विधायक गणेश चंद्र मंडल और नेता जहांगीर खान, गौतम अधिकारी और शमीम मुल्ला ने बीते 5-6 सालों में अवैध संपत्तियां जुटाई हैं।' उन्होंने कहा, 'यह केवल शुरुआत है। हम एक-एक कर और सबूत जारी करेंगे।' अधिकारी का कहना है कि उनके पास विधायक गणेश चंद्र मंडल की अवैध संपत्तियों, अनुब्रत मंडल की 13 संपत्तियों और मौसमी मंडल की 16 और रौशनी मंडल की 4 संपत्तियों के दस्तावेज हैं।'

From around the web