anant tv

स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण अभियान में भोपाल ने बाजी मारी है और जिले को वेस्ट जोन में पहला स्थान अर्जित हुआ

 
ad

 स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण अभियान में भोपाल ने बाजी मारी है और जिले को वेस्ट जोन में पहला स्थान अर्जित हुआ है। राज्यों की श्रेणी में भी मध्यप्रदेश पहले पायदान पर है। प्रदेश के ही इंदौर जिले को तीसरा स्थान अर्जित हुआ है। कलेक्टर अविनाश लवानिया ने इस शानदार उपलब्धि के लिए जिले के नागरिकों विशेषत: ग्रामीणजनों का धन्यवाद ज्ञापित किया है, जिनकी स्वच्छता की आदत की वजह से यह उपलब्धियां अर्जित हुई है।

स्वच्छता अभियान के अंतर्गत सूखा कचरा, गीला कचरा एवं गांव से निकलने वाला गंदा पानी (ग्रेवाटर) के निष्पादन के लिए अलग-अलग तीन चरणों में सर्वे किया गया जिसमें भोपाल ग्रामीण को वेस्ट जोन में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है।

भोपाल जिले में 222 ग्राम पंचायतों के अंतर्गत आने वाले 466 गांवों में से 300 से अधिक गांव ओडीएफ प्लस घोषित किए जा चुके हैं। सभी ग्राम पंचायतों में ई-रिक्शा के माध्यम से कचरा कलेक्शन किया जा रहा है और यह जिम्मेदारी सम्हाली है, महिलाओं के स्व-सहायता समूहों ने। कचरे की छटाई का कार्य ग्राम ईटखेड़ी एवं एमआरएफ सेंटर में संचालित किया जा रहा है। सभी कचरा गाड़ियों में जीपीएस सिस्टम लगा हुआ है। कंट्रोल रूम मॉनीटरिंग जिला पंचायत द्वारा की जा रही है। ग्रेवाटर के निष्पादन के लिए सोकपिट, नाडेप, पाईप लाईन एवं नालियां बनाई गई है और जिले में डीईडब्ल्यूएटीएस एवं डब्ल्यूएसपी संरचनाओं का निर्माण कर नवाचार किए जा रहे हैं। उल्लेखनीय है कि भारत सरकार के जल शक्ति मंत्रालय द्वारा पूरे देश में संचालित स्वच्छ भारत ग्रामीण अभियान के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के अंतर्गत देश के सभी राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों को 4 जोन ईस्ट, वेस्ट, नार्थ और साउथ में बांटा गया है। मध्यप्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान राज्यों के जिलों को वेस्ट जोन में शामिल किया गया है। 

From around the web