anant tv

सीएम योगी ने कहा कि डबल इंजन की सरकार में ओलंपिक और पैरा ओलंपिक में प्रदेश के प्रतिभागी खिलाड़ियों को पुरस्कृत कर सम्मानित किया है

 
saed

सीएम ने कहा कि गत वर्ष सांसद खेल स्पर्धा के माध्यम से 22 खेलों में 26 हजार प्रतिभागी शामिल हुए थे। इस वर्ष 12 खेल बढ़ाते हुए 34 खेलों का आयोजन किया जा रहा है। इनमें बालकों के साथ- साथ बालिकाओं की टीम का प्रतिभाग किया जाना सराहनीय पहल है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने खेल और खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए अनेक कदम उठाए हैं। ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने पर सरकार की ओर से 6 करोड़, रजत पदक जीतने पर 4 करोड़ तथा कांस्य पदक जीतने पर 2 करोड़ रुपये पुरस्कार स्वरूप दिए जाते हैं। ओलंपिक के टीम गेम्स में स्वर्ण पदक पर तीन करोड़, रजत पदक पर दो करोड़ व कांस्य पदक पर एक करोड़ की पुरस्कार राशि प्रदान की जा रही है। एशियन गेम्स में स्वर्ण पदक पर तीन करोड़, रजत पदक पर डेढ़ करोड़ व कांस्य पदक पर 75 लाख रुपए का पुरस्कार भी दिया जाता है। विश्वकप और कॉमनवेल्थ गेम्स में पदक विजेताओं को भी राज्य सरकार सम्मानित करती है। ओलंपिक गेम्स, कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियन गेम्स में प्रदेश के प्रतिभागी खिलाड़ियों को भी नकद पुरस्कार दिया जाता है।

मेरठ में मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय की हो रही स्थापना
सीएम योगी ने कहा कि डबल इंजन की सरकार में ओलंपिक और पैरा ओलंपिक में प्रदेश के प्रतिभागी खिलाड़ियों को पुरस्कृत कर सम्मानित किया है। उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को प्रदेश का सर्वोच्च पुरस्कार (पुरुष वर्ग) लक्ष्मण पुरस्कार व महिला वर्ग में रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार भी प्रदान किया जाता है। अंतरराष्ट्रीय खेलों में प्रदेश के पदक विजेताओं की सीधी भर्ती द्वारा राजपत्रित पदों पर नियुक्ति की व्यवस्था भी की गई है। प्रदेश सरकार द्वारा मेरठ में मेजर ध्यान चंद स्पोर्ट्स विश्वविद्यालय की स्थापना की जा रही है। प्रदेश के सभी 58 हजार ग्राम पंचायतों में वर्तमान में खेल मैदान बनाने की कार्रवाई चल रही है। 34 हजार ग्राम पंचायतों में खेल मैदान के लिए भूमि आरक्षित कर दी गई है। साथ ही ब्लॉक स्तर पर मिनी स्टेडियम बनाने की कार्रवाई युद्ध स्तर पर चल रही है। सभी राजस्व ग्रामों में युवक मंडल दल व महिला मंडल दल का गठन कर स्पोर्ट्स किट उपलब्ध कराने की कार्यवाही भी युद्धस्तर पर बढ़ रही है। डबल इंजन की सरकार का प्रयास है कि सभी जनपदों में स्टेडियम बने।

यूपी में मेजर ध्यानचंद जैसी खेल प्रतिभाएं रही हैं
सीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश में मेजर ध्यानचंद जैसी खेल प्रतिभाएं रही हैं। सरकार का मानना है कि ऐसी प्रतिभाओं को सही प्रशिक्षण और दिशा मिले तो विश्व स्तर पर प्रदेश और भारत का नाम रोशन कर सकते हैं। युवाओं के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए पीएम मोदी ने खेलो इंडिया और फिट इंडिया मूवमेंट चलाया। खेलों में गाँव के युवाओं को आगे लाने की मुहिम शुरू की। पीएम मोदी के मार्गदर्शन में उत्तर प्रदेश में खेल सुविधाओं का निरंतर विस्तार किया जा रहा है। स्थानीय युवाओं को अंतरराष्ट्रीय खेलों और ओलंपिक गेम्स के लिए तैयार करने व पदक प्राप्त करने के लिए टारगेट ओलम्पिक पोडियम स्कीम शुरू की गई। इसके तहत युवा खिलाड़ियों को वर्ल्ड क्लास ट्रेनिंग के साथ अत्याधुनिक खेल उपकरण और आर्थिक सहायता दी जाती है। अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं के लिए युवाओं को तैयार करने के लिए वर्ष 2018 में खेलो इंडिया यूथ गेम्स की शुरुआत की गई। उसी का परिणाम है कि कॉमनवेल्थ गेम्स, एशियन गेम्स और विश्व चैम्पियनशिप में देश के युवाओं ने अब तक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और ओलंपिक गेम्स में रिकॉर्ड पदक प्राप्त किए।

यूपी छोड़ राजस्थान पहुंच रहे गुंडेः राज्यवर्धन
पूर्व केंद्रीय मंत्री कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के राज में गुंडे-माफिया की कमर टूट गई है। बचने के लिए वे उत्तर प्रदेश छोड़कर राजस्थान भाग रहे हैं। राजस्थान की सरकार गुंडे-माफिया को संरक्षण दे रही है, लेकिन जल्द ही वहां भी भाजपा की सरकार बनेगी और गुंडे-माफिया का सफाया होगा। राठौर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा खेलों को बढ़ावा देने की बात कही।

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने दिखाई हरी झंडी
आगरा लोकसभा क्षेत्र की सांसद खेल स्पर्धा मैराथन दौड़ के साथ गुरुवार को शुरू हुई। सेंट जोंस चौराहे पर पूर्व केंद्रीय मंत्री भारतीय निशानेबाज कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौर ने हरी झंडी दिखाकर मैराथन दौड़ की शुरुआत की। इस दौरान आगरा के सांसद एवं केंद्रीय राज्यमंत्री प्रो. एसपी सिंह बघेल भी मौजूद रहे। मैराथन में 20 हजार से अधिक स्कूली बच्चों और शहर के लोगों ने प्रतिभाग किया। चार दिनों तक चलने वाली सांसद खेल स्पर्धा में 20 से अधिक खेलों में हजारों खिलाड़ी शिरकत करेंगे।

From around the web