anant tv

नगर परिषद मानपुर में अव्यवस्था और मनमानी का आलम

रामविनोद पटेल उमरिया
 
बताया जाता है कि मध्यप्रदेश शासन की सम्बल जैसी महत्वाकांक्षी के क्रियान्वयन के लिए नगर परिषद मानपुर द्वारा किसी भी कर्मचारी को जिम्मेदारी नही सौंपी गई है सिर्फ आवेदन लेकर खानापूर्ति की जा रही है जिससे शासन की यह महत्वाकांक्षी योजना कागजो में दम तोड़ती नजर आ रही है। नगर परिषद से संबल कार्ड बनवाने की आस लगाए आमजन दर दर भटकने को मजबूर हैं, लेकिन समस्याएं ज्यो की त्यों बनी हुई है। 

मानपुर- जिले की नवगठित नगर परिषद मानपुर में अव्यवस्था और मनमानी चरम सीमा में है, अव्यवस्था का आलम ये है कि हितग्राही काम कराने के लिए दर बदर भटक रहे हैं वहीं जिम्मेदार मनमानी करते हुए मौज उड़ा रहे हैं। 

पार्षदों को नही दी जाती  परिषद के बैठक के कार्यवाही की नकल वा जानकारी जनप्रतिनिधि आर टी आई लगाने मे मजबूर 

नगर परिषद मानपुर के वार्ड क्रमांक 11 के पार्षद राहुल द्विवेदी ने आरोप लगाया कि अपने ही नगर परिषद की बैठक की कार्यवाही की नकल की जानकारी पार्षदों को नही दी जा रही , बड़े शर्म की बात है कि जनता द्वारा निर्वाचित जनप्रतिनिधियों को अपनी ही परिषद की बैठक की कार्यवाही की नकल लेने के लिए आरटीआई का सहारा लेने के लिए मजबूर हैं। साथ ही पार्षदों के बिना प्रस्ताव और सहमति के ही एजेंडा जारी कर दिया जाता है। अध्यक्ष और सीएमओ से जब जानकारी मांगी जाती है तो वे जानकारी देने में हीलाहवाली और न नुकुर करते हैं। श्री द्विवेदी का आरोप है कि नगर परिषद में गुपचुप तरीके से लाखों रुपये का वारा न्यारा करने की तैयारी की गई है। श्री द्विवेदी ने कहा कि जनवरी 2022 से जनवरी 2023 तक के आय व्यय सहित अन्य जानकारी समय सीमा के अंदर नगर  परिषद मानपुर से मांगी गई है साथ ही समय सीमा में जानकारी न मिलने पर न्यायालय की शरण ली जाएगी। 

साथ ही जब भी पार्षदो द्वारा बैठक मे कोई प्रस्ताव रखा जाता है तो उसे एजेंडे में शामिल नही किया जाता, बल्कि मनमानी रवैया अपनाया जा रहा है। श्री द्विवेदी ने आरोप लगाया कि नगर परिषद मानपुर द्वारा लाखो का वारा न्यारा किये जाने की संभावना है। वहीं नगर परिषद की बैठक में शामिल एजेंडे की जानकारी बैठक में शामिल पार्षदों को ही नही दी जाती, जानकारी मांगने पर सूचना का अधिकार अधिनियम के तहत आवेदन करने की बात कही जा रही है। नगर परिषद द्वारा बनाई गई समिति सदस्यों (पार्षदों) द्वारा संमिति की बैठक में आय व्यय सहित अन्य जानकारी पूछे जाने पर भी आंखे तरेरते हुए कोई भी जानकारी देने से साफ मना किया जा रहा है। 

सम्बल योजना के लाभ के लिए भटकते हितग्राही

बताया जाता है कि मध्यप्रदेश शासन की सम्बल जैसी महत्वाकांक्षी के क्रियान्वयन के लिए नगर परिषद मानपुर द्वारा किसी भी कर्मचारी को जिम्मेदारी नही सौंपी गई है सिर्फ आवेदन लेकर खानापूर्ति की जा रही है जिससे शासन की यह महत्वाकांक्षी योजना कागजो में दम तोड़ती नजर आ रही है। नगर परिषद से संबल कार्ड बनवाने की आस लगाए आमजन दर दर भटकने को मजबूर हैं, लेकिन समस्याएं ज्यो की त्यों बनी हुई है। 

स्वच्छता के नाम पर सिर्फ बस स्टैंड में झाड़ू

नगर परिषद मानपुर में बैठे जिम्मेदारों पर तानाशाही करने का आरोप है। बताया जाता है कि स्वच्छता के नाम पर महज नगर के अस्थायी बस स्टैंड में झाड़ू लगाई जाती है बाकी नगर के कई मोहल्ला में गंदगी के अंबार लगा हुआ है जिसे नगर परिषद द्वारा नजर अंदाज  किया जा रहा है। जबकि नगर परिषद द्वारा बाकायदा जलकर से लेकर संपत्ति कर, सहित कई कर बाकायदा वसूले जा रहे हैं। लेकिन लोगो की समस्याओं से नगर परिषद के जिम्मेदारों को कोई सरोकार नहीं है।

फर्जी मुकदमे और घर तोड़ने की धमकी

नगर परिषद मानपुर के नेता प्रतिपक्ष और पार्षद राहुल द्विवेदी ने आरोप लगाया कि नगर परिषद कि पार्षदो द्वारा बैठक में जनहितैषी और हितग्राही मूलक योजनाओं के बारे में अपनी बात रखने पर और बोलने पर फर्जी तरीके से  मुकदमे दर्ज कराने और फर्जी तरीके से सरकारी जमीन में मकान होने का डर और सत्ता के धौंस दिखाकर मकान तोड़ने और उल्टा जांच कराने की धमकी सत्ता पक्ष द्वारा दी जा रही है। 
          नगर परिषद मानपुर के नेता प्रतिपक्ष और पार्षद  राहुल द्विवेदी ने शासन प्रशासन से अपेक्षा की है कि नगर परिषद मानपुर में व्याप्त अव्यवस्था और मनमानी पर तत्काल रोक लगाते हुए विकास कार्यों को गति प्रदान करते हुए हितग्राही मूलक कार्य कराए जाए।

From around the web