anant tv

संयुक्त राष्ट्र के छठे प्रमुख और पूर्व पर्यावरण कार्यकारी निदेशक,एरिक सोलहेम पहुंचे मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड

 
sa

मध्यप्रदेश एक ग्रीन और क्लीन (हरा व स्वच्छ) शहर है। यहां विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए सब कुछ है। विभिन्न प्रजातियों के वन्यजीव हैं, मंदिर हैं, एतिहासिक विरासतें हैं और खास बात है कि यह यूरोपियन देशों की तरह ही सुरक्षित है। यह बात संयुक्त राष्ट्र के छठे प्रमुख और पूर्व पर्यावरण कार्यकारी निदेशक श्री एरिक सोलहेम ने मध्यप्रदेश में पर्यटन के बारे में कहा। श्री एरिक मध्यप्रदेश प्रवास के दौरान शनिवार को मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड के कार्यालय पहुंचे। श्री एरिक ने मप्र टूरिज्म बोर्ड द्वारा रिस्पॉन्सिबल टूरिज्म के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों को देखा और सराहा भी।

मूलरूप से नार्वे के रहने वाले श्री एरिक विश्व में पर्यावरण के क्षेत्र में किए गए उल्लेखनीय कार्यों के लिए जाने जाते हैं। पर्यटन बोर्ड के अधिकारियों ने मध्यप्रदेश पर्यटन गंतव्यों जैसे यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल, एतिहासिक शहर ओरछा, ग्वालियर, मांडू, चंदेरी, विभिन्न टाइगर नेशनल पार्क के बारे में ऑडियो-विजुअल प्रेजेन्टेशन दिया। मध्यप्रदेश के समृद्ध एतिहासिक व सांस्कृतिक धरोहरों से प्रभावित हुए श्री एरिक ने कहा कि यह मध्यप्रदेश में उनका पहला दौरा है। काफी सुंदर और विशाल प्रदेश है। मप्र को विश्वभर से पर्यटकों को आकर्षित करने पर विशेष ध्यान देना चाहिये। क्योंकि विदेशी पर्यटक एतिहासिक और सांस्कृतिक महत्व के स्थलों तथा प्राकृतिक स्थलों, जंगलों आदि पर ज्यादा भ्रमण करते हैं। मध्यप्रदेश को विश्व पर्यटन पटल पर पहचान स्थापित करना चाहिये। ताकि आने वाले समय में सभी देशों से पर्यटक इन विशेष आकर्षणों का अनुभव कर सकें।

मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड के डिप्टी डायरेक्टर श्री युवराज पडोले, डिप्टी डायरेक्टर सुश्री दीपिका रॉय चौधरी, ज्वॉइंट डायरेक्टर डॉ. पीके सिन्हा एवं पर्यटन विभाग के जनरल मैनेजर श्री एसपी सिंह मौजूद थे।

From around the web