anant tv

भारत सरकार ने अब 26 दिसंबर के दिन को ‘वीर बाल दिवस’ के रूप में मनाने का फैसला किया है

 
sd

 भारत सरकार ने अब 26 दिसंबर के दिन को ‘वीर बाल दिवस’ के रूप में मनाने का फैसला किया है। इस बाबत केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अधिसूचना जारी की है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय के अपर सचिव मृत्युंजय कुमार नारायण ने बताया कि भारत ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ मना रहा है। ऐसे समय में देश को 10वें सिख गुरु गोविन्द सिंह जी के दो छोटे पुत्रों जोरावर सिंह और साहिबजादा फतेह सिंह के क्रमशः 9 और 6 साल की छोटी उम्र में सिख पंथ की गरिमा और सम्मान की रक्षा हेतु 26 दिसम्बर, 1705 को दिये गये उनके सर्वोच्च और अप्रतिम बलिदान को नहीं भूलना चाहिए। देश उनके इस महान बलिदान को सलाम करता है।

मृत्युंजय कुमार नारायण ने बताया कि भारत सरकार ने साहिबजादा जोरावर सिंह और साहिबजादा फतेह सिंह के बलिदान के सम्मान में 26 दिसम्बर को ‘वीर बाल दिवस’ के रूप में मनाने का निर्णय लिया है। इसलिए भारत सरकार, साहिबजादा जोरावर सिंह और साहिबजादा फतेह सिंह द्वारा न्याय के मार्ग पर महान वीरता और सर्वोच्च बलिदान के लिए कृतज्ञ राष्ट्र की श्रृद्धांजलि के रूप में 26 दिसम्बर को ‘वीर बाल दिवस’ के रूप में घोषित करती है।

From around the web