anant tv

नरेला विधानसभा में “मुख्यमंत्री जनसेवा अभियान” को सफल बनाने के लिये दो चरणों में अभियान की रूपरेखा निर्धारित की गई है।

 
as

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्म-दिवस से प्रदेश स्तर पर मुख्यमंत्री जनसेवा अभियान की शुरुआत की जा रही है। अभियान के सम्बंध में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने शुक्रवार को नरेला विधानसभा के सभी मंडल कार्यकर्ताओं एवं संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में मंत्री सारंग ने सफल क्रियान्वयन के सम्बंध में कार्यकर्ताओं एवं अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।

नरेला विधानसभा के प्रत्येक पात्र हितग्राही को घर पर ही मिलेगा योजना का लाभ

मंत्री सारंग ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संपूर्ण जीवन जन-मानस की सेवा को समर्पित रहा है। स्वच्छ भारत अभियान के साथ देशवासियों में स्वच्छता की अलख जगाना हो या आयुष्मान भारत योजना के साथ गरीब परिवारों को स्वास्थ्य का सुरक्षा कवच प्रदान करना, मोदी ने सदैव देश की जनता की सेवा के लिये तत्परता के साथ कार्य किया है।

मंत्री सारंग ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के जन्म-दिवस 17 सितंबर से 31 अक्टूबर तक मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आह्वान पर केंद्र एवं राज्य सरकार की हितग्राही मूलक योजनाओं का शत-प्रतिशत लाभ प्रदेश के प्रत्येक पात्र हितग्राही तक पहुँचाने के उद्देश्य से नरेला विधानसभा में भी मुख्यमंत्री जनसेवा अभियान चलाया जायेगा।

सारंग ने कहा कि नरेला विधानसभा अंतर्गत प्रत्येक वार्ड में बूथ स्तर पर घर-घर सर्वे किया जायेगा। इसमें पात्र हितग्राहियों को चिन्हित कर उन्हें अपने घर पर ही योजना का लाभ दिया जायेगा।

नरेला विधानसभा में अभियान की सफलता के लिये बनाई गई रूपरेखा

मंत्री सारंग ने बताया कि नरेला विधानसभा में “मुख्यमंत्री जनसेवा अभियान” को सफल बनाने के लिये दो चरणों में अभियान की रूपरेखा निर्धारित की गई है। इसमें बूथ स्तर पर सर्वे दल डोर-टू-डोर सर्वे के माध्यम से योजनाओं के लिए पात्र हितग्राहियों को चिन्हित कर आवेदन प्राप्त करेंगे एवं योजना में आवश्यक दस्तावेज एकत्र कर वॉर्ड प्रभारी को जमा करेंगे। वार्ड प्रभारी प्राप्त आवेदनों का सत्यापन कर संबंधित अधिकारियों को योजनाओं का लाभ दिलाने अनुशंसा करेंगे। संबंधित विभाग पात्र हितग्राहियों को वार्ड में शिविर लगाकर हितलाभ वितरण किया जायेगा। इसके अतिरिक्त सर्वे के लिये एक क्यूआर कोड भी जारी किया गया है, जिसे स्केन कर आवेदक जानकारी भर सकेंगे।

कोई भी घर छूटे न इसके लिये बनेगा सर्वे रूट

मंत्री सारंग ने बताया कि नरेला विधानसभा अंतर्गत 328 बूथों पर सर्वे दलों को 10-10 बूथों में बांटा गया है। बूथ स्तर पर शासन की ओर से 2-2 समन्वयक होंगे जो 5 सदस्यीय सर्वे दल को प्रशिक्षित कर उनके साथ डोर-टू-डोर सर्वे एवं पात्र हितग्राहियों से दस्तावेज एकत्रिकरण का कार्य करेंगे। उन्होंने बताया कि नरेला विधानसभा में कोई भी घर सर्वे से छूटे न इसके लिये वार्ड स्तर पर सर्वे का रूट भी तैयार किया गया है। सर्वे दल को एक पंजीयन फॉर्म भी उपलब्ध कराया गया है। इसमें प्रत्येक परिवार के सदस्यों की जानकारी के साथ ही शासन द्वारा मिल रही योजनाओं की जानकारी भी आवेदक से प्राप्त की जा सकेंगी। इस फॉर्म में एक विशेष कॉलम में आवेदक अपने क्षेत्र की समस्या भी लिख सकेंगे।

नरेला विधानसभा अंतर्गत 17 वार्डों के 328 बूथों की मॉनिटरिंग चिकित्सा शिक्षा मंत्री एवं नरेला विधायक विश्वास कैलाश सारंग स्वयं करेंगे। बैठक में भोपाल महापौर श्रीमती मालती राय, एसडीएम मनोज वर्मा, पार्षद एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

From around the web