anant tv

नेहरू का मानना ​​था कि बच्चे देश का सबसे बड़ा संसाधन हैं। यही वजह है कि उनकी जयंती 14 नवंबर को मनाई जाती है। 

 
D
आज भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू (Jawaharlal Nehru) की 133वीं जयंती है। आज का यह दिन 'बाल दिवस' (Children's Day) के रूप में मनाया जाता है। इस अवसर पर पीएम मोदी ने कहा कि हमारे पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू जी की जयंती पर उन्हें कोटि-कोटि नमन करता हूं। हम अपने राष्ट्र के लिए उनके योगदान को भी याद करते हैं। वहीं, पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की जयंती पर यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने स्मारक शांति वन में पुष्पांजलि अर्पित की है।

 
खरगे ने नेहरू को बताया 'लोकतंत्र का चैंपियन'
कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने सोमवार को जवाहरलाल नेहरू को उनकी जयंती पर पुष्प अर्पित किए। उन्होंने कहा कि भारत के पहले प्रधानमंत्री के जबरदस्त योगदान के बिना 21वीं सदी के भारत की कल्पना नहीं की जा सकती है। पूर्व प्रधानमंत्री को 'लोकतंत्र का चैंपियन' कहते हुए खरगे ने कहा कि उनके विचारों ने चुनौतियों के बावजूद भारत के आर्थिक विकास को आगे बढ़ाया है।

 
14 नवंबर, 1889 को हुआ था जन्म
भारत के पहले प्रधानमंत्री के रूप में कार्य करने वाले जवाहरलाल नेहरू का जन्म 14 नवंबर, 1889 को इलाहाबाद (अब प्रयागराज) में हुआ था। आज उनकी 133वीं जयंती है। उनकी जयंती को देश में हर साल बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है।
नेहरू का मानना ​​था कि बच्चे देश का सबसे बड़ा संसाधन हैं। यही वजह है कि उनकी जयंती 14 नवंबर को मनाई जाती है। उन्हें प्यार से 'चाचा नेहरू' कहा जाता था।

From around the web