anant tv

अखिल भारतीय सफाई मजदूर ट्रेड यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष श्री मगन झांझोट ने सफाई कामगारों के संबंध में विभिन्न मांगे रखी। 

 
sd

मैं यह वादा करता हूँ कि आपके कल्याण के लिये जो बन सकेगा, उसमें कोई कसर नहीं छोड़ूंगा। सभी नगरीय निकायों में आउटसोर्स व्यवस्था को समाप्त करेंगे। जल्द ही इसके आदेश जारी किये जायेंगे। सफाई कामगारों के 18 सूत्रीय मांग-पत्र पर विचार के लिये प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं आवास की अध्यक्षता में कमेटी गठित की जाएगी। कमेटी में संगठन के तीन प्रतिनिधि शामिल होंगे। कमेटी एक माह में रिपोर्ट देगी। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह रवीन्द्र भवन में मध्यप्रदेश सफाई कामगार सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

मंत्रीश्री सिंह ने कहा कि स्वच्छता मित्रों को हर माह समय पर वेतन दिलाने की व्यवस्था की जाएगी। भोपाल नगर निगम के चुंगी क्षतिपूर्ति की राशि जल्द जारी की जाएगी। अनुकम्पा नियुक्ति देने के संबंध में भी विचार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हर संभव मांगों को पूरा किया जाएगा।

सफाई कामगारों के चरणों में प्रणाम

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री सिंह ने कहा कि आपका योगदान अमूल्य है। कोरोना काल में सफाई कामगारों द्वारा किये गये कार्यों की जितनी भी सराहना की जाएँ वह कम है। आप सभी के चरणों में मैं प्रणाम करता हूँ। आपके हितों की चिंता करना हमारी और राज्य सरकार की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि महात्मा गाँधी के बाद स्वच्छता मित्रों का सम्मान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने किया है। गाँधी जी ने कहा था कि आजादी से ज्यादा महत्वपूर्ण स्वच्छता है। गाँधी जी के बाद प्रधानमंत्री श्री मोदी ने ही स्वच्छता को इतना महत्व दिया और स्वच्छता मिशन की शुरूआत की, जो अब अभियान बन चुका है। हमारी संस्कृति में भी स्वच्छता को लक्ष्मी से जोड़ा गया है।

देश में सेना और स्वच्छता मित्र का है महत्वपूर्ण योगदान

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री सिंह ने कहा कि देश में सेना और स्वच्छता मित्रों का योगदान महत्वपूर्ण है। सेना का रक्षा में और स्वच्छता मित्रों का स्वच्छता में। सैनिक वेतन के लिये नहीं वतन के लिये कार्य करता है और इसी तरह स्वच्छता मित्र भी शहर के लिये कार्य करता है। इनके कार्य देश और समाज के लिये अनुकरणीय है।

मंत्री श्री सिंह ने कहा कि सफाई कामगारों की दुर्घटना बीमा की राशि 2 लाख से बढ़ा कर 5 लाख रूपये कर दी गई है। वर्ष 2024 तक मशीनों से सफाई का कार्य विभिन्न शहरों में शुरू करने का लक्ष्य है। सफाई कर्मचारियों को मशीने उपलब्ध कराई जाएंगी। इससे सफाई कामगारों को काम सहूलियत होगी।

नगरपालिक निगम भोपाल की महापौर श्रीमती मालती राय ने कहा कि प्रदेश पूरे देश में स्वच्छता में नम्बर-1 सिर्फ आप लोगों के कारण आया है। उन्होंने कहा कि भोपाल नगर निगम में ठेके पर सफाई नहीं करवाई जाएगी। सफाई कामगारों को समय पर वेतन दिलाया जाएगा। श्रीमती राय ने कहा कि कड़कडाती ठण्ड में भी आप काम करते है, आपकी पीड़ा को मैं समझती हूँ।

अखिल भारतीय सफाई मजदूर ट्रेड यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष श्री मगन झांझोट ने सफाई कामगारों के संबंध में विभिन्न मांगे रखी। उन्होंने नगरीय विकास एवं आवास मंत्री को 18 सूत्रीय मांग-पत्र भी सौंपा। कार्यक्रम में संगठन के अन्य पदाधिकारियों ने भी विचार व्यक्त किये। इस दौरान नगरपालिक निगम भोपाल के अध्यक्ष श्री किशन सूर्यवंशी, अध्यक्ष नगरपालिक निगम सागर श्री वृंदावन अहिरवार सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

From around the web