anant tv

राज्यों की विज्ञान परिषदों का नवाचारों को उत्प्रेरित करने पर विचार मंथन

 
राज्यों की विज्ञान परिषदों का नवाचारों को उत्प्रेरित करने पर विचार मंथन

विज्ञान महोत्सव के पहले दिन नेहरू नगर स्थित मेपकॉस्ट के सभागार में राज्यों की विज्ञान परिषदों का नवाचारों को उत्प्रेरित करने पर विचार मंथन शुरू हुआ। तीन दिवसीय सम्मेलन (कानक्लेव) के पहले दिन छह राज्यों ने अपनी उपलब्धियों और सफलताओं के बारे में प्रेजेंटेशन दिया। इन राज्यों में अरूणाचल प्रदेश,छत्तीसगढ़,गोवा,बिहार,असम और गुजरात शामिल हैं। इस अवसर पर परिषद् के महानिदेशक डॉ.अनिल कोठारी ने अपने उद्बोधन में आशा व्यक्त करते हुए कहा कि यह सम्मेलन सभी राज्यों के बीच वैचारिक आदान-प्रदान बढ़ाने और नेटवर्किंग को सशक्त करने में अहम भूमिका निभायेगा।
कानक्लेव का उद्घाटन विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग,भारत सरकार,नई दिल्ली के एसईईडी-एसएसटीपी के प्रमुख डॉ.देवप्रिया दत्ता ने किया। संचालन एसईईडी-एसएसटीपी में वैज्ञानिक‘एफ’डॉ.रश्मि शर्मा ने समन्वय किया। आरंभ में एसटीआई कांपेंडियम का विमोचन किया गया।

विज्ञान महोत्सव में 22 जनवरी को होने वाली गतिविधियां

01.स्टुडेंट साइंस विलेज 
स्कूली बच्चों के लिए ‘विद्यार्थी विज्ञान ग्राम’का आयोजन किया जा रहा है। इसमें देश भर से 2500 से अधिक बच्चे शामिल हो रहे हैं। इसमें वैज्ञानिक फिल्में और वैज्ञानिक उपकरणों पर कार्यशाला होगी। 
02.आर्टिजन टेक्नोलॉजी विलेज: वोकल फॉर लोकल
बांस,लौह धातु,रेशा,चर्म धातु सहित विभिन्न विधाओं के कारीगरों और शिल्पियों को आधुनिक और उन्नत प्रौद्योगिकी के साथ नवीनतम वैज्ञानिक विधियों से संबंधित चर्चा आयोजित है। आर्टिजन टेक्नोलॉजी विलेज में कारीगर और शिल्पी अपने उत्पादों को प्रदर्शित कर रहे हैं। विभिन्न विधाओं के विशेषज्ञों के लेक्चर आयोजित हैं
03.यंग साइंटिस्ट कांफ्रेंस 
विज्ञान उत्सव का एक और मुख्य आकर्षण यंग साइंटिस्ट कांफ्रेंस है। इसमें करीब 1500 युवा वैज्ञानिकों और नामचीन विशेषज्ञों के बीच वैज्ञानिक विचार-विमर्श का आयोजन किया जायेगा।
04 मेगा साइंस एंड टेक्नालॉजी एक्जीबिशन
मेगा प्रदर्शनी का उद्देश्य दर्शकों को विज्ञान जगत के विभिन्न क्षेत्रों में मिली सफलताओं की रोचक और तथ्यात्मक जानकारियों से परिचित कराना है। मेगा एक्सपो में जन सामान्य को आत्मनिर्भर भारत,स्वच्छ भारत,डिजिटल इंडिया,स्किल इंडिया आदि कार्यक्रमों से भी परिचित कराया जायेगा। विज्ञान उत्सव के चारों दिन प्रदर्शनी सभी के लिए खुली है।
05 साइंस लिटरेचर फेस्टीवल ‘विज्ञानिका’
विज्ञान साहित्य के महोत्सव ‘विज्ञानिका’ में विज्ञान साहित्य की विभिन्न विधाओं पर विशेषज्ञों के व्याख्यान होंगे। पैनल चर्चा और विज्ञान संचारकों से संवाद किया जायेगा।
06.स्टार्टअप कॉनक्लेव 
स्टार्टअप कॉनक्लेव में ‘बायोटेक इनावेशन इको सिस्टम’ के बारे में बताया जायेगा। इसके साथ ही स्टार्टअप द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में विकसित नवोन्मेष उत्पादों और प्रौद्योगिकियों का प्रदर्शन किया जायेगा। स्टार्टअप के लिए चुनौतियों और अवसरों पर केंद्रित चर्चा होगी।
07.स्टुडेंटस इनोवेशन फेस्टीवल
स्टुडेंटस इनोवेशन फेस्टीवल प्रोजेक्ट के लिए पांच विषय-पृथ्वी,जल,अग्नि,वायु और आकाश(स्पेस) का चयन किया गया है। स्टुडेंटस इनोवेशन फेस्टीवल में इंजीनियरिंग,,कृषि,आयुर्वेद,फुड टेक्नोलाजी और बेसिक साइंस के विद्यार्थी भाग लेंगे। 
08.साइंस थ्रू गेम्स एंड टॉयज
साइंस थ्रू गेम्स एंड टॉयज एक्टीविटी में परंपरागत और आधुनिक खिलौनों की प्रदर्शनी लगाई गई है। कार्यशालाएं और इंटरएक्टिव सत्र भी आयोजित किये जायेंगे।
09.इंटरनेशनल साइंस फिल्म फेस्टीवल ऑफ इंडिया
इसमें फिल्म निर्माता,रिसर्च स्कॉलर और विश्वविद्यालयों के मीडिया संस्थानों के विद्यार्थी भाग ले रहे हैं। साइंस फेस्टीवल के दौरान विज्ञान के विभिन्न मुद्दों पर बनाई गई डॉक्यूमेंटरीज और लघु फिल्मों का प्रदर्शन किया जायेगा। 
10.फेस-टू-फेस विथ न्यू फं्रटियर्स इन साइंस
आईआईएसएफ द्वारा आयोजित इस एक्टीविटी में युवा वैज्ञानिकों, शोधकर्ताओं और स्कूली बच्चों को देश के विख्यात वैज्ञानिकों से संवाद और ‘न्यू फ्रंटियर्स इन साइंस’ में संवाद और लघु चर्चा का आयोजन किया जायेगा।
11.नेशनल सोशल आरगेनाइजेशंस एंड सोशल मीट
नेशनल सोशल आरगेनाइजेशंस एंड सोशल साइंस मीट में बाल एवं महिला स्वास्थ्य एवं पोषण विषय पर सत्र का आयोजन किया जायेगा।
12.न्यू एज टेक्नोलॉजिज शो
मेटावर्स,कृत्रिम मेधा,सायबर सिक्यूरिटी,ब्लॉक चेन,इंटरनेट ऑफ थिंग्ज,डिजिटल करेंसी,ग्रीन इनर्जी,सिंथेटिक बायोलॉजी आदि प्रदर्शनी,डेमो,पोस्टर,प्रश्नोतरी आदि का आयोजन किया जा जायेगा। विशेषज्ञों का व्याख्यान आयोजित किया जायेगा।
13.मेंटरिंग एंड काउंसलिंग
मेंटरिंग एंड काउंसलिंग में वैज्ञानिकों और अनुसंधानकर्ताओं को मार्गदर्शन और करियर के बारे में संभावनाओं वाले अवसरों से परिचित कराया जायेगा। इसमें विशेषज्ञों के साथ चर्चा का मौका भी मिलेगा।

From around the web