anant tv

बिहार के सीएम ने कहा, ‘किसी व्यक्तिगत बयान के कारण गठबंधन पटरी से नहीं उतर सकता। 

 
df

बिहार में शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर द्वारा रामचरितमानस पर दिए गए विवादास्पद बयान को लेकर खूब हंगामा मचा है। भाजपा निरंतर इस मुद्दे पर नीतीश सरकार को घेर रही है। इसी बीच बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि शिक्षा मंत्री को बयान वापस लेने के लिए कहा जा चुका है। इतना ही नहीं नीतीश कुमार ने कहा कि हम लोगों ने पहले ही शिक्षा मंत्री को समझा दिया है। 

बिहार में हाल ही में शिक्षा मंत्री एवं राजद नेता चंद्रशेखर ने रामचरित्र मानस को लेकर विवादित बयान दिया था। शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने पटना में नालंदा ओपन विश्वविद्यालय के दीक्षांत कार्यक्रम में विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए रामचरितमानस को नफरत फैलाने वाला एवं समाज को बांटने वाला ग्रंथ बताया था। शिक्षा मंत्री के इस बयान को लेकर विवाद मचा है। यहां तक कि नीतीश की पार्टी ने भी इस बयान से स्वयं को अलग कर लिया है।

वही इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को बयान पर उठ रहे सवालों के बीच नाराजगी जताई थी। उन्होंने कहा था, ‘हिंदू, मुस्लिम, सिख और ईसाई।।। सभी धर्मों के लोगों को अपने हिसाब से पूजा-पाठ का अधिकार है। उनके इस काम में किसी प्रकार की दखल ठीक नहीं।’ नीतीश से पूछा गया था कि क्या उनको उम्मीद है कि प्रोफेसर चंद्रशेखर अपने विवादित बयान को वापस लेंगे? इसपर नीतीश ने बोला कि मैंने उनसे इस मुद्दे पर बात की है। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि उपमुख्यमंत्री (तेजस्वी यादव) ने भी इस मामले पर अपना पक्ष साफ कर दिया है। आगे बिहार के सीएम ने कहा, ‘किसी व्यक्तिगत बयान के कारण गठबंधन पटरी से नहीं उतर सकता। मैं सब से कहना चाहता हूं कि पुरानी बात बीत जाने दी जाए, इस मुद्दे को आगे ना खींचा जाए।’

From around the web