anant tv

कलेक्टर ने किया जिला चिकित्सालय का औचक निरीक्षण

 
Collector
आकाश तिवारी संवाददाता नरसिंहपुर

नरसिंहपुर। कलेक्टर सुश्री ऋजु बाफना ने शुक्रवार को जिला चिकित्सालय का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने एएनसी पंजीयन काउंटर, दवा वितरण केन्द्र, सोनोग्राफी रूम, प्रसव पूर्व कक्ष, ट्राइऐज रूम, ओपीडी, एनआरसी, प्रसाधन, शिशु वार्ड, नवजात शिशु गहन चिकित्सा इकाई, आईसीयू, बाल्य गहन चिकित्सा इकाई, ऑक्सीजन प्लांट, सेंट्रल पैथोलॉजी लैब, रसोई, टीबी केन्द्र आदि की स्थिति को देखा और मौके पर मौजूद अधिकारियों को निर्देशित किया।
      ओपीडी निरीक्षण के दौरान कलेक्टर सुश्री बाफना ने निर्देश दिये कि वेटिंग एरिया को और बढ़ाया जाये। भीड़ की स्थिति निर्मित न हो, इसके लिए टोकन सिस्टम लागू करें। मरीजों एवं उनके परिजनों के लिए हेल्प डेस्क बनाया जाये। परिसर में पर्याप्त लाइट हो। ड्यूटी डॉक्टर्स मरीजों की रिपोर्ट में राउंडवार नोट्स का उल्लेख करें। इसके अलावा उन्होंने कहा कि किसी मरीज अथवा उसके परिजनों से किसी भी प्रकार से पैसे की मांग की जाती है, तो उसकी सूचना सीएमएचओ/ सिविल सर्जन को देंगे। इसके लिए अस्पताल परिसर में अधिकारियों के मोबाइल नम्बर का स्पष्ट उल्लेख हो। डॉक्टर्स एवं स्टाफ की अटेंडेंस बायो मैट्रिक डिवाइस के आधार पर होगी। इसी रिपोर्ट के आधार पर वेतन आहरण होगा।
      एनआरसी में उन्होंने मरीजों से चर्चा की और बच्चे तथा उनकी माता को दिये जाने वाले भोजन के बारे में पूछा। सिविल सर्जन को निर्देश दिये कि प्रोटीनयुक्त आहार बच्चे एवं उसकी मां को प्रदान किया जाये। एनआरसी में बच्चों के लिए मनोरंजन के साधन, टीव्ही, खिलौने, प्ले एरिया भी हो।
      इसके पश्चात कलेक्टर ने एसएनसीयू की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। यहां मौजूद ड्यूटी डॉक्टर्स से उन्होंने बच्चों के काम्प्लीकेटेड कैसों की जानकारी ली। दवाईयों की उपलब्धता सुनिश्चित करने एवं स्टॉक प्रबंधन के लिए पहले से ही सजग रहने कहा। सेंट्रल पैथोलॉजी लैब के निरीक्षण में उन्होंने यहां की जाने वाली जांचों व जांच उपरांत मरीजों/ उनके परिजनों को दी जाने वाली रिपोर्ट की जानकारी ली। परिसर में सफाई व्यवस्था ठीक नहीं होने पर एजेंसी पर पेनाल्टी लगाने निर्देश दिये। इसके अलावा टीबी केन्द्र पर जाकर यहां लिये जाने वाले सैम्पलों की जानकारी भी ली।
      निरीक्षण के दौरान सीईओ जिला पंचायत डॉ. सौरभ संजय सोनवणे, सीएमएचओ डॉ. अजय कुमार जैन, सिविल सर्जन डॉ. मुकेश जैन, अन्य अधिकारी और स्वास्थ्य विभाग का अमला मौजूद था।

From around the web