anant tv

 सरकार के कार्यकाल के 8 साल पूरे हो चुके हैं। इस दौरान पीएम मोदी ने जनता के लाभ के लिए कई बड़े फैसले लिए। 

 
as
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra modi) आज 17 सितंबर 2022 को 72 साल के हो गए। बता दें कि साल 2014 की 26 मई के नरेंद्र मोदी ने पहली बार देश के प्रधानमंत्री पद के लिए शपथ ली थी। उनकी सरकार के कार्यकाल के 8 साल पूरे हो चुके हैं। इस दौरान पीएम मोदी ने जनता के लाभ के लिए कई बड़े फैसले लिए। आज उनके 72 वें जन्मदिन के मौके पर हम आपको उनके द्वारा शुरू किए गए कुछ प्रमुख योजनाओं (PM Modi Schemes) के बारे में बता रहे हैं, जिसका आम आदमी को जबरदस्त फायदा मिल रहा है। 

1. PM Kisan: मोदी सरकार ने साल 2018 में 'पीएम किसान सम्मान निधि योजना' शुरू की थी। इस योजना के तहत छोट और मध्यमवर्गीय किसान को सरकार की तरफ से हर साल तीन किश्तों में 6000 रुपए की सहायता दी जाती है। यह राशि चार-चार महीने के अंतराल दो-दो हजार करके सीधे किसान के खाते में दी जाती है। इसका लाभ करोड़ों किसानों को मिल रहा है।

2. Sukanya Samriddhi Yojna: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सुकन्या समृद्धि योजना की शुरूआत 2015 में की थी। यह योजना बेटियों के लिए है। यह योजना पोस्‍ट ऑफिस के तहत चलाई जा रही है। इस योजना के तहत 10 साल से कम उम्र की बेटियों के पैरेंट्स  अपनी बेटी के नाम पर यह खाता खुलवाते हैं। सुकन्या समृद्धि योजना के तहत  सालाना 7.8 फीसदी ब्‍याज मिलता है। सुकन्या समृद्धि योजना 21 साल में मैच्योर होती है।

3. Pradhan Mantri Ujjwala Yojana: मोदी सरकार द्वारा साल 2016 में 'प्रधानमंत्री उज्जवला योजना' की शुरुआत की गई। इस योजना का उद्देश्यों गरीबों को फ्री में गैस कनेक्शन उपलब्ध कराना है। इस योजना के तहत कम आय वाले घरों में  फ्री में गैस कनेक्शन उपलब्ध कराया गया। अब तक इस योजना का लाभ करोड़ों गरीबों को मिल चुका है। 

4. PM Jan Dhan Yojna: मोदी सरकार ने 2014 में आम लोगों को बैंकिग से जुड़ने के लिए 'जन-धन योजना' की शुरुआत की थी। इस योजना के तहत अब तक 44 करोड़ से ज्यादा लोगों के खाते खोले जा चुके हैं। जन-धन खाते की सबसे बड़ा लाभ यह है कि इस खाते में पैसा जमा करने या निकालने पर कोई भी चार्ज नहीं लगता है।

 5. PM Mudra Loan Yojna: मोदी सरकार द्वारा साल 2015 में 'प्रधानमंत्री मुद्रा योजना' (PMMY) की शुरुआत की गई थी। इस योजना के तहत रोजगार शुरू करने के लिए 10 लाख रुपये तक का लोन दिया जाता है। बता दें कि व्यावसायिक बैंक, सहकारी बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, सूक्ष्म वित्त संस्थान (एमएफआई) और एनबीएफसी के जरिए मुद्रा योजना के तहत लोन दिया जा रहा है। इसका लाभ देशभर के करोड़ों लोगों को मिल रहा है।

From around the web