anant tv

बादलों के डेरे के बीच चोटियों पर हिमपात का क्रम फिर शुरू हो गया है। चारधाम समेत तमाम ऊंची चोटियों पर बर्फ की मोटी चादर बिछ गई है।

 
sdf

उत्तराखंड में वर्षा और बर्फबारी से समूचा राज्य कड़ाके की ठंड की चपेट में आ गया है। देहरादून में गुरुवार देर रात से हो रही बारिश से हाड़ कंपाने वाली ठंड रही है। वहीं जोशीमठ के आपदा प्रभावित सुनील गांव में बर्फबारी से दिक्कतें बढ़ गईं हैं। बर्फबारी से तापमान लुढ़क गया है। राज्‍यभर में शीत दिवस की स्थिति है।

ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी होने से पूरा राज्‍य कड़ाके की सर्दी की चपेट में आ गया है। हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर में सुबह घना कोहरा छा रहा है और लोग शीत लहर के प्रकापे से परेशान हो रहे हैं।

चोटियों पर हिमपात का क्रम फिर शुरू

बादलों के डेरे के बीच चोटियों पर हिमपात का क्रम फिर शुरू हो गया है। चारधाम समेत तमाम ऊंची चोटियों पर बर्फ की मोटी चादर बिछ गई है। जबकि, निचले इलाकों में सर्द हवाओं ने कंपकंपी बढ़ा दी है। बदले मौसम से तापमान में भी दो से तीन डिग्री सेल्सियस तक की कमी आई है।

बर्फबारी का ताजा अपडेट:

  • मसूरी और धनोल्‍टी में इस सीजन का दूसरा हिमपात हुआ है।
  • मसूरी में देर रात बारिश भी हुई। जिसके बाद चार दुकान और लाल टिब्बा में मौसम का दूसरा हिमपात हुआ।
  • समीपवर्ती धनोल्टी, बुरांशखंडा, सुरकंडा और नागतिब्बा में भी हिमपात हुआ है।
  • चमोली जिले में बर्फबारी हुई। यहां औली, जोशीमठ, बदरीनाथ, हेमकुंड, सहित नीती माणा घाटी में बर्फबारी हुई है।
  • चमोली जिले में 47 गांव बर्फबारी से प्रभावित हुए हैं। इसमें सबसे ज्यादा 19 गांव तहसील घाट तथा 13 गांव तहसील जोशीमठ के शामिल हैं। जबकि तहसील चमोली के अन्तर्गत सात तथा तहसील गैरसैंण में आठ गांव बर्फबारी से प्रभावित हुए हैं।
  • केदारनाथ में चौथे दिन शुक्रवार को भी बर्फबारी हुई है।
  • रुद्रप्रयाग जिले के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी और निचले इलाकों में बारिश हो रही है।
  • चकराता में भी बर्फबारी हो रही है।
  • उत्तरकाशी में गंगोत्री यमुनोत्री धाम सहित ऊंचाई वाले क्षेत्रों में जमकर बर्फबारी हो रही है।
  • उत्तरकाशी जनपद के 50 से अधिक गांव बर्फ की चादर से ढक गए हैं। अधिकांश गांवों का संपर्क भी कट गया है।
  • गंगोत्री हाईवे गंगनानी से आगे गंगोत्री तक बर्फबारी के कारण बाधित है। हाईवे राडी टॉप और राना चट्टी से लेकर जानकीचट्टी तक अवरुद्ध है।
  • उत्तरकाशी श्रीनगर केदारनाथ को जोड़ने वाला मोटर मार्ग भी चौरंगी के पास बर्फबारी के कारण बंद हो गया है।
  • मसूरी के दुधली भद्रज, विंसेंट हिल, गन हिल, वेवरली हिल, मॉल रोड पर भी हिमपात हुआ। गन हिल और मॉल रोड पर गिरी बर्फ पिघल गई।
  • बीती रात को देहरादून जिले के जौनसार बावर के ऊंचाई वाले ग्रामीण इलाकों में बर्फबारी होने से यातायात संचालन ठप हो गया।
  • लोखंडी समेत आसपास क्षेत्र में मौसम का दूसरा हिमपात होने से मसूरी-चकराता-त्यूणी राष्ट्रीय राजमार्ग बंद है। हाईवे पर चकराता से आगे धारनाधार-जाड़ी, लोखंडी-कोटी कनासर के बीच 15 किलोमीटर हिस्से में सड़क पर बर्फ की मोटी परत जम गई।
  • बर्फबारी के चलते हाईवे बंद होने से सीमांत क्षेत्र के करीब 100 गांवों का सड़क संपर्क तहसील, ब्लाक व जिला मुख्यालय से कट गया। बर्फ से ढकी पहाड़ की ऊंची चोटियों से तलहटी में बसे निचले इलाकों में शीत लहर चल रही है। बर्फीली हवाओं से लोग ठंड में ठिठुर रहे हैं।
  • सीमांत जिले पिथौरागढ़ के मुनस्यारी से मिली जानकारी के अनुसार उच्च हिमालय में सुबह से ही हिमपात हुआ। मुनस्यारी के निकट स्थित हंसलिंग, राजरंभा, पंचाचूली, सिदमधार, बृजगंग, नंदा देवी, नंदाकोट सहित मिलम व आसपास के क्षेत्रों में हिमपात हुआ।  मुनस्यारी में न्यूनतम तापमान माइनस तीन तक पहुंच चुका है। दारमा और व्यास की चोटियों, आदि कैलास क्षेत्र में हिमपात हुआ है।

चार दिन प्रदेश में मौसम का मिजाज बदला रहने का अनुमान

मौसम विभाग के अनुसार अगले चार दिन प्रदेश में मौसम का मिजाज बदला रहने का अनुमान है। चोटियों पर कहीं-कहीं भारी हिमपात हो सकता है। जबकि, मैदानों में वर्षा के भी आसार हैं। इस बीच कड़ाके की ठंड में इजाफा हो सकता है।

प्रदेश में गुरुवार को सुबह से ही बादल छाये रहे। कहीं-कहीं हल्की धूप खिली, लेकिन सर्द हवाओं ने ठिठुरन बढ़ा दी। प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में दोपहर बाद से ही हल्के हिमपात का क्रम शुरू हो गया। जो कि देर शाम भारी हिमपात में बदल गया।

केदारनाथ में अब तक चार फीट मोटी बर्फ

केदारनाथ में अब तक चार फीट मोटी बर्फ जम चुकी है। केदारनाथ में पुनर्निर्माण कार्य भी पूरी तरह ठप पड़े हैं। तुंगनाथ, मदमहेश्वर, कालीशिला, पंवालीकांठा, चंद्रशिला समेत कई ऊंची चोटियों पर भी बर्फ जम चुकी है।

अन्य चोटियों पर भी कमोबेश यही आलम है। उधर, कुमाऊं में सीमांत पिथौरागढ़ जिले के उच्च हिमालयी चोटियों राजरंभा, पंचाचूली, नंदादेवी, नंदाकोट आदि में सुबह हिमपात हुआ।

वहीं पिथौरागढ़, अल्मोड़ा, रानीखेत, चंपावत में सुबह हल्की बूंदाबादी होने से ठंड में बढ़ोत्तरी हो गई। हालांकि दिन में धूप खिलने से कुछ राहत भी मिली लेकिन बाद में बादलों की आवाजाही बनी रही।

From around the web