anant tv

ड्यूरोप्लाई ने बढ़ई के बच्चों को अपने 'आओ स्कूल चले हम' अभियान के तहत 1,000 से अधिक एजुकेशनल किट्स वितरित किए

कोविड के चलते दो वर्ष बाद स्कूल जा रहे बच्चों को प्रेरित करने के लिए ड्यूरोप्लाई ने विशेष ड्राइव लॉन्च की
 
 
कोविड के कारण दो वर्ष की ऑनलाइन कक्षाओं के बाद इस शैक्षणिक वर्ष में ऑफलाइन कक्षाएँ शुरू हुईं अधिकांश लाभार्थी बच्चे वंचित वर्ग के हैं

कोविड के कारण दो वर्ष की ऑनलाइन कक्षाओं के बाद इस शैक्षणिक वर्ष में ऑफलाइन कक्षाएँ शुरू हुईं अधिकांश लाभार्थी बच्चे वंचित वर्ग के हैं


नई दिल्ली,  ड्यूरोप्लाई ने कोविड के प्रकोप के बाद एक बार फिर स्कूल वापसी करने वाले बढ़ई के बच्चों को 1,000 से अधिक एजुकेशनल किट्स वितरित किए हैं। अपने सामाजिक अभियान 'आओ स्कूल चले हम' लॉन्च करने का ड्यूरोप्लाई का उद्देश्य इन बच्चों को प्रेरित करना है, जो कि लम्बे समय तक कोविड के कारण स्कूल जाने से वंचित रहे हैं। ड्यूरोप्लाई ने समूचे भारत में इस नेक पहल का आगाज़ किया है।
अधिकांश लाभार्थी बच्चे समाज के वंचित तबकों से हैं और इस किट में उनके लिए तमाम जरुरी नए अध्ययन उपकरण शामिल हैं, जो उनके लिए सिर्फ प्रेरणा से कहीं अधिक मूल्यवान हैं। प्रत्येक एजुकेशनल किट में एक स्कूल बैग, एक ज्योमेट्री बॉक्स, रंग भरने वाली किताबें, कॉपियाँ, पेन, फेसमास्क्स और अन्य स्टेशनरी का सामान शामिल है।
उक्त सामाजिक पहल के बारे में बोलते हुए, श्री अखिलेश चितलांगिया, एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर और चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर, ड्यूरोप्लाई, ने कहा, "65 से भी अधिक वर्ष पुरानी विरासत और अपने क्षेत्र की एक जिम्मेदार कंपनी होने के नाते, हमने महसूस किया कि गृह निर्माण उद्योग में इस महत्वपूर्ण स्टेकहोल्डर की विशेष देखभाल करना हमारी सामाजिक जिम्मेदारी है। कोविड के विगत दो वर्षों ने लगभग सभी लोगों को मानसिक रूप से बहुत प्रभावित किया है। इसके प्रभाव को कम करना और अपने प्रमुख स्टेकहोल्डर्स पर विशेष ध्यान देना हमारा सबसे पहला कर्तव्य है।"


ड्यूरोप्लाई ने इस पहल की शुरुआत ठीक उस समय की, जब ऑनलाइन कक्षाओं और गर्मी की छुट्टियों के बाद एक बार फिर स्कूल खुल रहे थे। इस पहल के तहत यह भी सुनिश्चित किया गया कि जरूरतमंद बच्चों को स्वयं की अध्ययन सामग्री नहीं खरीदना पड़े। नतीजतन, आने वाले वर्षों में बच्चों द्वारा किट का पूरी तरह से उपयोग किया जा सकेगा।


ड्यूरोप्लाई ने अपनी कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी (सीएसआर) पहल के लिए शिक्षा को अपने फोकस क्षेत्र के रूप में चुना है, क्योंकि शिक्षा न सिर्फ हमारे समाज के भविष्य के मूल्यों और व्यवहार को महत्वपूर्ण रूप से आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है, बल्कि इसके आधार को मजबूत भी बनाती है, जिससे समाज के 'स्थायित्व' को बढ़ावा मिलता है। ठीक उसी प्रकार, जैसे ड्यूरोप्लाई अपने सभी प्रोडक्ट कैटिगरी में प्लाईवुड की अपनी प्रीमियम रेंज के माध्यम से घर या ऑफिस के इंटीरियर्स में स्थायित्व प्रदान करता है।
समूचे भारत में ड्यूरोप्लाई के 10,000 से अधिक कुशल साझेदार हैं, जो विभिन्न प्रोडक्ट सेग्मेंट्स में प्रीमियम प्लाईवुड की ड्यूरोप्लाई रेंज के माध्यम से होम फर्निशिंग की बेहतर गुणवत्ता सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इसमें कोई आश्चर्य नहीं है कि ड्यूरोप्लाई को इंडस्ट्री के खिलाड़ियों और बिचौलियों के बीच भारतीय प्लाइवुड बाजारों में गहन ब्रांड विश्वास हासिल है।

ड्यूरोप्लाई इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड के बारे में


65 से अधिक वर्षों की समृद्ध विरासत के साथ, ड्यूरोप्लाई अग्रणी भारतीय प्लाईवुड निर्माताओं में सबसे पुराना खिलाड़ी है। ड्यूरोप्लाई अपनी सभी प्रोडक्ट श्रेणियों में प्लाईवुड की एक प्रीमियम रेंज प्रदान करता है। इसमें कोई आश्चर्य नहीं है, इस इंडस्ट्री में इसके बिचौलियों और प्लाईवुड निर्माताओं के बीच ड्यूरोप्लाई को एक उल्लेखनीय उच्चतम ब्रांड इक्विटी के लिए जाना जाता है।
ग्राहकों के घर और ऑफिस के इंटीरियर्स को स्थायित्व सुनिश्चित करने के लिए नवीनता पर ध्यान केंद्रित करते हुए, ड्यूरोप्लाई बेहतरीन प्लाईवुड की समस्त श्रृंखला प्रदान करता है, जो प्रीमियम, लोकप्रिय और सजावटी प्रोडक्ट कैटिगरी में समाहित है। इस इंडस्ट्री में ड्यूरोप्लाई अपने प्रोडक्ट्स पर ग्यारंटी देने वाला पहला ब्रांड है, जो अपने ग्राहकों के प्रति ड्यूरोप्लाई की गहरी प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

From around the web