anant tv

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आर्थिक नीतियों पर कोलकाता ने भी मुहर लगा दी।

 
sf

 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आर्थिक नीतियों पर कोलकाता ने भी मुहर लगा दी। उत्तर प्रदेश को एक ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए योगी सरकार ने विस्तृत कार्ययोजना बनाई और उस पर कार्य कर रही है। इसके तहत टीम योगी ने मंगलवार को कोलकाता में रोड शो इवेंट कर निवेशकों को ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 में आने का न्योता दिया। कोलकाता के द ओबराय ग्रैंड होटल में आयोजित कार्यक्रम में दिग्गज उद्योगपतियों ने हिस्सा लिया। इस दौरान उद्योगपतियों ने 6855 करोड़ से अधिक के निवेश के लिए 14 समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए। कार्यक्रम के दौरान उद्योगपतियों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का वीडियो संदेश भी देखा। रोड शो इवेंट के दौरान को उत्तर प्रदेश के यूपी के औद्योगिक विकास मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता ‘नन्दी’, श्रम व सेवायोजन मंत्री अनिल राजभर, परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह, आईटी राज्यमंत्री अजीत सिंह पाल, अपर मुख्य सचिव (कृषि) मनोज सिंह, प्रमुख सचिव पर्यटन मुकेश मेश्राम, यूपीसीडा के सीईओ मयूर माहेश्वरी, एमएसएमई सचिव प्रांजल यादव आदि मौजूद रहे।

औद्योगिक विकास मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता ‘नन्दी’ ने योगी सरकार की निवेश फ्रेंडली नीतियों के बारे में बताते हुए उद्योगपतियों को प्रदेश में निवेश के लिए आमंत्रित किया।
मंत्री अनिल राजभर ने कहा कि यूपी की नीति और माहौल सबसे बढ़िया है, इसलिए हम आप सभी को बड़े बाजार में आमंत्रित कर रहे हैं।रोड शो इवेंट में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का वीडियो संदेश प्रसारित किया गया। योगी आदित्यनाथ ने संदेश में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में भारत निवेशकों की पसंदीदा जगह बन गई है। पीएम के नेतृत्व में राजनैतिक स्थायित्व और गुड गवर्नेंस के नए दौर का सृजन हुआ है। प्राकृतिक संसाधनों से समृद्ध यूपी गुड गवर्नेंस, अपराध और भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टालरेंस, सबसे बड़े उपभोक्ता बाजार, सिंगल विंडो पोर्टल निवेश मित्र, निवेश फ्रेंडली नीतियों के साथ ईज आफ डूइंग में अग्रणी राज्य है।
यूपी हर लिहाज से निवेश के लिए सर्वोत्तम जगह है। यूपी देश की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की तरफ अग्रसर है। वैश्विक कोरोना महामारी के बावजूद यूपी में रिकार्ड 4 लाख करोड़ रुपये के निवेश की योजनाएं आरंभ हुई हैं। यह यूपी के प्रति निवेशकों का विश्वास दर्शाता है। पीएम के संकल्प के अनुरूप यूपी भारत की इकोनॉमिक ग्रोथ को गति देने के लिए तैयार है।कोलकाता से कई उद्योगपतियों ने एमओयू साइन किया। कोलकाता में कुल 6855 करोड़ रुपये के एमओयू साइन किये। टाटा स्टील डाउन स्ट्रीम प्रोडक्ट्स लिमिटेड की तरफ से 250 करोड़ एमओयू हुआ। हल्दीराम भुजिया वाला ने 500 करोड़, अनमोल फीड्स की तरफ से मछली पालन के लिए 50 करोड़, ग्रीनटेक एनवायरनमेंट प्राइवेट लिमिटेड ने 2000 करोड़, एलेनबेरी (मेडिकल गैस) के लिए 200 करोड़, श्याम मेटालिक्स ने 630 करोड़, ईस्टर्न इक्यूपमेंट ईएनटी ने 25 करोड़, टेक्सटाइल में लक्स इंडस्ट्री लिमिटेड ने 50 करोड़, कैप्टन स्टील ने 1650 करोड़, चार नौक हॉस्पिटल (एसकेएम ग्रुप) 200 करोड़, एसआरएमबी ने स्टील मैनुफैक्चरिंग में 250 करोड़, इनफिनिटी इंफोटेक पार्क ने 400 करोड़, फ़ूड प्रोसेसिंग के लिए बाला जी वेफर्स ने 500 करोड़, मेघदूतम ट्रेवल्स ने 150 करोड़ रुपये का एमओयू किया।

कोलकाता से आने वाले उद्योगपतियों ने उत्तर प्रदेश के युवाओं के लिए 14 हजार से अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए योगी सरकार के कदमों की सराहना की। टाटा स्टील डाउन स्ट्रीम प्रोडक्ट्स लिमिटेड ने 300 लोगों को रोजगार के अवसर प्रदान करने की सहमति दी। हल्दीराम भुजिया वाला ने 1500 युवाओं, अनमोल फीड्स की तरफ से मछली पालन के लिए 200 रोजगार, ग्रीनटेक एनवायरनमेंट प्राइवेट लिमिटेड ने 5000 युवाओं, एलेनबेरी (मेडिकल गैस) के लिए 200 रोजगार, श्याम मेटालिक्स ने 720 रोजगार, ईस्टर्न इक्यूपमेंट ईएनटी ने 50 रोजगार, टेक्सटाइल में लक्स इंडस्ट्री लिमिटेड ने 500 रोजगार, कैप्टन स्टील ने 1800 रोजगार, चार नौक हॉस्पिटल (एसकेएम ग्रुप) 1700 लोगों को रोजगार, एसआरएमबी ने स्टील मैनुफैक्चरिंग में 750 युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने को कहा। इनफिनिटी इंफोटेक पार्क ने 500, फ़ूड प्रोसेसिंग के लिए बाला जी वेफर्स ने 1500 और मेघदूतम ट्रेवल्स ने 5000 युवाओं को रोजगार के लिए उत्तर प्रदेश आने का आश्वासन दिया।

From around the web