anant tv

टाटा नेक्सन वर्तमान में सबसे अधिक बिकने वाली एसयूवी है।

 
zas

टाटा नेक्सन वर्तमान में सबसे अधिक बिकने वाली एसयूवी है। नेक्सन को सबसे पहले सितंबर 2017 में लॉन्च किया गया था और एक लाख उत्पादन करने में कंपनी को 1 साल 10 महीने का समय लगा। उसके बाद दूसरा लाख पूरा करने में 1 साल 11 महीने का समय लग गया। उसके बाद 3 लाख व 4 लाख उत्पादन क्रमशः 8 महीने व 7 महीने का समय लगा।

दरअसल नेक्सन को 2020 में नए अपडेट के साथ लाया गया था और उसके बाद से ही इसकी बिक्री में तेजी से वृद्धि हुई है। सिर्फ आईसीई अवतार में नहीं बल्कि इसे ईवी के रूप में भी उपलब्ध कराया गया है, जिस वजह से भी बिक्री में तेजी आई है। यह कार कंपनी की पहली 5-स्टार सेफ्टी रेटिंग वाली कार है। हाल ही में इसे काजीरंगा एडिशन में लाया गया है।

टाटा नेक्सन को कई स्पेशल एडिशन जैसे काजीरंगा, डार्क, जेट में भी उपलब्ध कराया गया है। बात करें नेक्सन के नए वैरिएंट की तो इसे एक्सजेड+ के ऊपर रखा गया है। नेक्सन एक्सजेड+ (एल) को पेट्रोल व डीजल इंजन तथा मैन्युअल व ऑटोमेटिक गियरबॉक्स में उपलब्ध कराया गया है, इसकी शुरुआती कीमत 11,37,900 रुपये, एक्स-शोरूम रखी गयी है।

इस नए वैरिएंट को डार्क ट्रिम में लाया गया है और इसमें एयर प्योरीफायर, वायरलेस चार्जर, ऑटो डिमिंग आईआरवीएम्, वेंटीलेटेड फ्रंट सीट्स आदि दिए गये हैं। इसके अलावा इसमें 7-इंच का टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम, इलेक्ट्रिक सनरूफ, 16-इंच के अलॉय व्हील्स, कूल्ड ग्लवबॉक्स, डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर, रियर एसी वेंट्स दिए गये हैं।

इसके इंजन विकल्प में कोई बदलाव नहीं किये गये हैं। नेक्सन में 1.2-लीटर पेट्रोल व 1.5-लीटर डीजल इंजन दिए गये हैं। इसका पेट्रोल इंजन 118 बीएचपी का पॉवर व 170 न्यूटन मीटर का टार्क प्रदान करता है। वहीं इसका डीजल इंजन 108 बीएचपी का पॉवर व 260 न्यूटन मीटर का टार्क प्रदान करता है। दोनों गियरबॉक्स में 6-स्पीड मैन्युअल व एएमटी गियरबॉक्स मिलता है।

कंपनी इसे इलेक्ट्रिक वर्जन में मैक्स व प्राइम वैरिएंट में उपलब्ध कराती है। कंपनी ने इन दोनों वेरिएंट्स के साथ दो चार्जिंग विकल्प दिए हैं, जिसमें 3.3 kW और 7.2 kW एसी फास्ट चार्जर शामिल हैं। Nexon EV Max को कंपनी ने एक बड़े बैटरी पैक के साथ बाजार में उतारा है। इस बैटरी पैक की बदौलत इसकी रेंज करीब 400 किलोमीटर से भी ज्यादा हो गई है। नेक्सन ईवी मैक्स में 40.5 kWh के लिथियम आयन बैटरी पैक का इस्तेमाल किया गया है।

टाटा नेक्सन की शानदार बिक्री के चलते यह लगातार प्रोडक्शन के नए आंकड़ें पार कर रही है। कंपनी चिप की कमी से जूझने के बाद भी नेक्सन का प्रोडक्शन अच्छे तरीके से मैनेज कर रही है। अब देखना होगा कि अगले एक लाख यूनिट का उत्पादन कितने महीनों में किया जाता है।

From around the web