anant tv

इस साल आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) के जरिये शेयरों की बिक्री में गिरावट भी देखी गई है

 
as

इस साल आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) के जरिये शेयरों की बिक्री में गिरावट भी देखी गई है। सर्वाधिक नुकसान उठाने वाली कंपनियों में वन97 कम्युनिकेशंस (Paytm) निर्गम मूल्य से 67 पर्सेंट नुकसान के साथ सबसे आगे है। एलआईसी (LIC) का भी शेयर भाव निर्गम मूल्य से 31 पर्सेंट गिर चुका है, जबकि जोमैटो (Zomato) का शेयर 20.7 पर्सेंट गिरा है।

अडानी विल्मर का शेयर ईश्यू प्राइस से 205.6 पर्सेंट तक चढ़ा

वहीं, इस गिरावट के बावजूद कई आईपीओ ने औसतन 50 पर्सेंट का रिटर्न दिया है, जबकि इस दौरान बीएसई सेंसेक्स सिर्फ 1.6 पर्सेंट ही बढ़ा है। दूसरी तरफ अडानी विल्मर का शेयर निर्गम मूल्य से 205.6 पर्सेंट तक चढ़ गया है। वहीं सोना प्रीसिजन (81.6 पर्सेंट), पतंजलि फूड्स (106 पर्सेंट) और पावरग्रिड (38 पर्सेंट) बढ़त लेने में सफल रही हैं।

आईपीओ से जुटाई गई राशि में इस साल खासी गिरावट

शेयर बाजार के प्रदर्शन संबंधी एक विश्लेषण में कहा गया है कि आईपीओ से जुटाई गई राशि में इस साल खासी गिरावट आई है। इसके मुताबिक, 2022 में अबतक आए 51 आईपीओ से 38,155 करोड़ रुपये की राशि जुटाने में सफलता मिली है। पिछले साल की समान अवधि में 55 निर्गमों से 64,768 करोड़ रुपये जुटाए गए थे।

इस साल सिर्फ आठ निर्गम ही बड़े आकार के रहे हैं। इनमें भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के आईपीओ से सर्वाधिक 20,500 करोड़ रुपये जुटाए गए थे। वहीं पिछले साल 33 कंपनियों के निर्गम ने 1,000 करोड़ रुपये से अधिक राशि जुटाई थी।

सितंबर 2021 तक आईपीओ ने 74 पर्सेंट रिटर्न दिया

बैंक ऑफ बड़ौदा की अर्थशास्त्री दीपन्विता मजूमदार ने यह विश्लेषण रिपोर्ट तैयार की है। इसके मुताबिक, सितंबर 2021 तक आईपीओ ने 74 पर्सेंट रिटर्न दिया था, जबकि उस समय तक सेंसेक्स 20 पर्सेंट चढ़ा था, लेकिन 1,000 करोड़ रुपये से अधिक आकार वाले उन आईपीओ में से 16 कंपनियों के शेयर फिलहाल कम भाव पर बिक रहे हैं।

वर्ष 2021 के पूरे साल में कंपनियों ने शेयर बाजार से 1,21,680 करोड़ रुपये जुटाए थे। लेकिन इस दौरान अप्रैल से अक्टूबर के बीच सेंसेक्स भी 40,000 अंक से उछलकर 60,000 अंक के करीब पहुंचा था। इसकी तुलना में वर्ष 2022 में शेयर बाजार में काफी उतार-चढ़ाव देखने को मिला है और यह 50,000 से लेकर 60,000 अंक के दायरे में ही कारोबार कर रहा है। 

निगेटिव रिटर्न देने वाली कंपनियों की संख्या 40 पर्सेंट

इस साल अबतक निगेटिव रिटर्न देने वाली कंपनियों की संख्या 40 पर्सेंट रही है, जबकि 45 पर्सेंट कंपनियों ने 20 पर्सेंट से अधिक रिटर्न दिया है।  सर्वाधिक नुकसान उठाने वाली कंपनियों में वन97 कम्युनिकेशंस (पेटीएम) निर्गम मूल्य से 67 पर्सेंट नुकसान के साथ सबसे आगे है।

From around the web