एंबुलेंस में चादर के नीचे 6 बोरा देशी शराब बरामद

 
ok

 एंबुलेंस में चादर के नीचे 6 बोरा देशी शराब बरामद हुई. चालक को तत्काल हिरासत में ले लिया गया और एम्बुलेंस को थाना लेकर पुलिस चली आई. ड्राइवर से पूछताछ करने के बाद डोरीगंज थाना क्षेत्र के कोटवा रामपट्टी पंचायत के मुखिया जयप्रकाश सिंह सहित दो नामजद और एक अज्ञात के विरुद्ध मद्य निषेध की धारा में मामला दर्ज कर लिया गया है. भगवान बाजार थाना अध्यक्ष मुकेश कुमार झा ने बताया कि पुलिस द्वारा लगातार वाहन चेकिंग की जा रही है सभी संदिग्ध वाहनों की सघन जांच की जा रही है. इसी क्रम में एंबुलेंस से देशी शराब बरामद हुई है.

पकड़े गए एम्बुलेंस को सारण सांसद राजीव प्रताप रूडी की सांसद निधि से 2019 में खरीदा गया था. इसे पंचायतों में मुखिया को सुपुर्द किया गया था, ताकि ग्रामीण इलाकों से बीमार लोगों को स्वास्थ्य केंद्रों पर पहुंचाने में परेशानी का सामना नहीं करना पड़े. लेकिन इस एंबुलेंस का दुरुपयोग के मामले आए दिन सामने आ रहे हैं. इस कड़ी में इस बार शराब तस्करी का मामला सामने आया है.

हाल के दिनों में ये कोई पहला मामला नहीं है जब सांसद राजीव प्रताप रूडी के दिए गए एंबुलेंस को लेकर विवाद हुआ हो. इससे पहले कोरोना काल में पूर्व सांसद पप्पू यादव ने इन एंबुलेंसों को लेकर सवाल खड़े किए थे. सोशल मीडिया में कई ऐसे वीडियो वायरल हुए थे, जिसमें एंबुलेंस से बालू ढोने का वीडियो वायरल हुआ था. इसे लेकर विपक्ष ने इस योजना पर सवाल खड़े किए थे. तब सांसद राजीव प्रताप रूडी ने इसे काफी लाभकारी योजना बताया था और कहा था कि इस योजना का लाभ पंचायतों के जरिए उन लोगों तक पहुंच रहा है जिन्हें जरूरत है.

मामला सामने आने के बाद सांसद राजीव प्रताप रूडी खुद ही मीडिया के सामने आए. सांसद ने बताया कि यह एंबुलेंस 40 स्थानों पर चलाई जा रही है, जिसमें कोटवा पार्टी रामपुर भी शामिल है. उन्होंने इस एंबुलेंस को चलाने के लिए बनाई गई संचालन समिति के तमाम सदस्यों पर कानूनी कार्रवाई की मांग की है. उन्होंने इस मामले के खुलासे के लिए पुलिस को धन्यवाद देते हुए कहा है कि ऐसे सभी मामलों में पुलिस को कठोर कार्रवाई करने की आवश्यकता है. उन्होंने कहा कि हमने ये गाड़ी गरीब जनता की सेवा करने के लिए दी है न कि शराब की तस्करी करने के लिए.

From around the web