anant tv

युवती ने हिजाब नहीं पहना तो पुलिस ने किया टॉर्चर

 
police

ईरान में लंबे समय से महिलाएं हिजाब का जबरदस्त विरोध कर रही हैं और कई बार तो इसके खिलाफ महिलाएं विरोध में सड़कों पर उतर चुकी हैं। इसी बीच एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है जब ईरान की एक युवती को पुलिस ने इसलिए गिरफ्तार कर लिया क्योंकि वह हिजाब का विरोध कर रही थी। इसके बाद उसको इतना टॉर्चर किया गया कि उसकी मौत पुलिस कस्टडी में ही मौत हो गई।

हिजाब नहीं पहना तो पुलिस ने गिरफ्तार किया
दरअसल, घटना ईरान के तेहरान की है। महसा अमिनी नाम की 22 साल की युवती अपने परिवार से मिलने तेहरान आई थी। उसने हिजाब नहीं पहना था। पुलिस ने तुरंत महसा को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के तीन दिन बाद, यानी 16 सितंबर को उसकी मौत हो गई। इसके बाद मामला सुर्खियों में आया।

पुलिस पर टॉर्चर का आरोप लगाया
युवती अमिनी के परिजनों ने पुलिस पर टॉर्चर का आरोप लगाया है। अमिनी की मां का कहना है कि पुलिस ने गिरफ्तारी के बाद उनकी बेटी को मारा है, जिसके कारण उसकी मौत हो गई। वहीं ईरानी पुलिस इन आरोपों से इनकार कर रही है। युवती की मौत के बाद ईरान में कई लोगों में नाराजगी दिख रही है। लोग कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

मौत संदिग्ध बताई जा रही
बताया जा रहा है कि युवती गिरफ्तारी के बाद बेहोश हो गई थी इसलिए उसकी मौत संदिग्ध बताई जा रही है। रिपोर्ट्स में बताया गया कि महसा के पुलिस स्टेशन पहुंचने और अस्पताल जाने के बीच क्या हुआ यह अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है। परिवार की तरफ से भी यही बताया गौए कि उसे कोई बीमारी नहीं थी। 

ईरान में हिजाब पहनना अनिवार्य
उधर इस मामले पर एमनेस्टी इंटरनेशनल ने अपने एक बयान में कहा कि पुलिस पर टॉर्चर के आरोप लगे हैं। फिलहाल इस मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं। बता दें कि ईरान में हिजाब पहनना महिलाओं के लिए अनिवार्य है। ईरानी कानून के मुताबिक महिलाओं को सार्व​जनिक तौर अपने बाल ढंकना अनिवार्य है। हालांकि वैसे तो हिजाब को लेकर यहां अक्सर प्रदर्शन होते रहते हैं लेकिन यह मामला अब चर्चित हो गया है।

From around the web