anant tv

 नागपंचमी के नागदेवता की पूजा के साथ ही खास तरह के व्यंजन भी बनते हैं

 
as

नागपंचमी की पूजा हर साल सावन महीने के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाई जाती है।

इस दिन लोग नाग देवता की पूजा करते हैं। साल 2022 में नागपंचमी 2 अगस्त को मनाई जाएगी। सापों को हिंदू धर्म में देवता के रूप में पूजा जाता है। मान्यता है कि नागपंचमी में दिन नागदेवता की पूजा करने से सारी मनोकामनाएं पूरी होती है। नागपंचमी के नागदेवता की पूजा के साथ ही खास तरह के व्यंजन भी बनते हैं। देश के हर कोने में अलग-अलग व्यंजन और भोग नागपंचमी पर बनते हैं। नागपंचमी पर दाल बाटी बनाने की परंपरा है। तो चलिए जानें कैसे बनेगी बाटी।

बाटी बनाने की सामग्री आधा किलो गेंहू का आटा, एक चम्मच घी, एक चम्मच अजवाइन, एक चम्मच सौंफ, चीनी, नमक स्वादानुसार, देसी घी।

बाटी बनाने की विधि बाटी बनाने के लिए सबसे पहले गेंहू के आटे को छान लें। आटे को बाउल में ले लें। फिर इसमे देसी घी को मोयन के तौर पर डालें। आटे की मात्रा के हिसाब से ही मोयन को डालें। साथ में एक चम्मच अजवाइन को क्रश करके डालें। साथ में एक चम्मच सौंफ और एक चम्मच चीनी को भी डाल लें। साथ में नमक स्वादानुसार डालें। इन सारी चीजों को अच्छी तरह से मिक्स कर लें। फिर पानी से आटे को गूंथ लें।

आटा को सख्त ही गूंथे। जिससे कि ये आसानी से पक जाएं। गूंथे हुए आटे को पंद्रह से बीस मिनट के लिए रख दें। फिर इन आटे की गोल लोईयां बना लें। इन लोईयों को ओवन में डालकर सुनहरा होने तक पकाएं। बीच-बीच में ओवन से निकालकर इसे पलट दें। जिससे कि बाटियां जलें ना। बाटी को निकालकर दाल और चटनी के साथ सर्व करें। अगर घर में ओवन नही है तो तंदूर में भी बाटियों को पकाया जा सकता है। या फिर आप चाहें तो बाटियों को तल भी सकती हैं। तलने से बाटियों का स्वाद बदल जाएगा।

From around the web