anant tv

गीले बालों को कभी नहीं बांधना चाहिए ऐसा करने से बाल चिपचिपे हो जाते हैं

 
as

मानसून शुरू हो चुका है और इस मौसम में सुंदरता के मामले में जितना जरूरी है उतना ही सेहत के प्रति भी सतर्क रहना जरूरी है क्योंकि नमी और नमी के इस मौसम में नमी के कारण त्वचा और बाल चिपचिपे हो जाते हैं।

बालों के चिपचिपेपन से बहुत से लोग नाखुश होते हैं, कुछ लोग पसीने और नमी के कारण बालों की गंध से भी परेशान रहते हैं, इसके अलावा इससे बाल झड़ना या टूटना भी हो सकता है, बालों का रूखापन भी हो सकता है। लेकिन मानसून के कुछ टिप्स को अपनाकर आप बालों की चिकनाई से राहत पा सकते हैं।सबसे पहली बात का ध्यान रखें कि बारिश में भीगने के बाद बालों को फिर से धोना और सुखाना बहुत जरूरी है। कि बालों से सारी गंदगी निकल जाती है और नमी के कारण बाल झड़ते हैं।कोई बात नहीं।

बाल शैम्पू की आवश्यकता
बारिश में भीगने के बाद शैंपू करना बहुत जरूरी है। यदि आप अपने बालों को गीला करने के बाद नहीं धोते हैं, तो इससे खुजली, बालों का झड़ना, संक्रमण आदि हो सकता है।

बालों में कम कंडीशनर लगाएं
इस मौसम में बहुत कम लोगों के बाल रूखे होते हैं, अगर आप रूखे बालों से परेशान हैं तो कंडीशनर लगाएं। इससे बाल मुलायम और चमकदार बनेंगे। अन्यथा, आप शैम्पू करने के बाद एक बार कंडीशनिंग छोड़ भी सकते हैं क्योंकि इससे बालों में नमी वापस आ जाएगी।

बालों को अच्छी तरह सूखने दें
गीले बालों को कभी नहीं बांधना चाहिए ऐसा करने से बाल चिपचिपे हो जाते हैं और बालों में फंगस पैदा हो जाता है और सिर से भी बदबू आने लगती है इसलिए बालों को धोने के बाद अच्छी तरह से सुखा लें।

बालों को सीधा करने की जरूरत है
जिस तरह हर चीज को सुलझाना होता है, उसी तरह बारिश में भीगे बालों को भी सुलझाना होता है। अगर आप बालों को नहीं सुलझाएंगे तो ये उलझेंगे और बाल टूटेंगे। इसके लिए चौड़े दांतों वाली कंघी लें, जिससे आपके बालों को आसानी से सुलझाया जा सके।

बालों को कस कर न बांधें
गीले बालों को कभी भी टाइट रबर बैंड से न बांधें। यदि आप बांधना चाहते हैं, तो उन्हें ढीला पिन करें। टाइट टाई आपके बालों के टूटने का कारण बन सकती है। इसलिए कोशिश करें कि बालों को तब तक न बांधें जब तक कि वह सूख न जाए।

From around the web