स्‍वस्‍थ्‍य रहना है रोजाना करें साइक्लिंग, जानें फायदें

स्‍वस्‍थ्‍य रहना है रोजाना करें साइक्लिंग, जानें फायदें

 
स्‍वस्‍थ्‍य रहना है रोजाना करें साइक्लिंग, जानें फायदें

अब तक को आप जान ही गए होंगे कि साइकिल चलाने के अपने कितने फायदे हैं। साइक्लिंग वजन घटाने से लेकर मसल्स बनाने तक के लिए बहुत ही अच्छा वर्कआउट है। यह पूरे शरीर को मजूबत बनाती है। इससे लंग्स अच्छी तरह काम करते हैं। वहीं इससे कम से कम 500 कैलरीज़ तक बर्न की जा सकती है। तो आइए जानते हैं इसके अन्य फायदे साथ ही जरूरी सावधानियों के बारे में...

लंग्स केयर के लिए करें साइक्लिंग
साइक्लिंग करते समय आप सामान्य की तुलना में गहरी सांस लेते हैं और ज्यादा मात्रा में ऑक्सीजन ग्रहण करते है। जिसके कारण शरीर में रक्त संचार भी बढ़ जाता है, साथ ही फेफड़ों के अंदर तेजी से हवा अंदर और बाहर होती है। इससे फेफड़ों की क्षमता में भी सुधार होता है और फेफड़ों में मजबूती आती है। इसलिए लंग्स की देखभाल के लिए साइकिल चलाना जरूरी हो जाता है।

पीठ और रीढ़ की हड्डी को मजबूती
साइकिल चलाने के दौरान शरीर की जो मुद्रा होती है उसे सबसे आदर्श मुद्रा माना गया है। साइक्लिंग के दौरान पीठ की मांसपेशियां भी पूरी तरह से सक्रिय हो जाती है। इससे उनकी भी एक्सरसाइज होती है। जिससे पीठ दर्द से छुटकारा मिलता है। साइकिल चलाने से आपकी रीढ़ की हड्डी को मजबूती मिलती है।

शरीर सुडौल और घुटने मजबूत
साइकिल चलाने से शरीर के सभी अंगों का व्यायाम हो जाता है। शरीर के अंगों को सुडौल रूप देने में व मसल्स बनाने के लिए भी यह एक बेहतरीन मौका है। खासकर पैरों की मसल्स और कूल्हों की अच्छी शेप के लिए साइक्लिंग एक आसान माध्यम है। साइक्लिंग के लिए सुबह या शाम का वक्त सबसे ज्यादा उपयुक्त होता है। कोहरा है तो साइक्लिंग संभलकर करें। साइकिल में लाइट जरूर लगवाएं।

कुछ बातों का रखें ध्यान
- साइकिल चलाने से पहले ज्यादा न खाएं। साथ ही साइकिल चलाने के तुरंत बाद भी खाना खाने से बचें। कम से कम 15 मिनट बाद खा सकते हैं।

- साइक्लिंग के बाद भरपूर मात्रा में पानी पीना चाहिए जिससे साइक्लिंग के वक्त पसीने के रूप में निकले पानी की पूर्ति की जा सके।

- साइकिल चलाते हुए ज्यादा ढीले कपड़े पहनने से बचें, क्योंकि साइकिल चलाने के दौरान कपड़ों के साइकिल में फंसने का खतरा बना रहता है।

- साइकिल चलाते वक्त अपने साथ पानी जरूर रखें, क्योंकि ज्यादा फिजिकल एक्टिविटी की वजह से शरीर में पानी की मात्रा कम होने का खतरा बना रहता है।

- साइक्लिंग के दौरान हेलमेट पहनना न भूलें, क्योंकि यह सुरक्षा के लिहाज से बेहद जरूरी है।

नोट- उपरोक्त दी गई जानकारी व सुझाव समान्य जानकारी के लिए हैं इन्हें किसी प्रोफेशनल डॉक्टर की सलाह के रूप में न समझें । कोई भी बीमारी या परेंशानी होने की स्थिति हो तो डॉक्टर की सलाह जरूर लें । 
 

From around the web