भारत और पाकिस्तान के बीच फिर से क्रिकेट शुरू किए जाने को लेकर गौतम गंभीर ने दी तीखी प्रतिक्रिया

 

भारत और पाकिस्तान के बीच लम्बे समय से कोई द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेली गई है। इस बीच तमाम कोशिशें हुई लेकिन बीसीसीआई का रूख स्पष्ट है कि आतंकवाद और क्रिकेट साथ-साथ नहीं संभव है। भारत के पूर्व क्रिकेटर और दिल्ली से सांसद गौतम गंभीर इस मसले पर बहुत खुल कर बोलते आ रहे हैं। एक बार फिर गंभीर ने भारत और पाकिस्तान के बीच खेली जाने वाली सीरीज को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी है। गंभीर ने कहा सैनिक के जीवन से ज्यादा क्रिकेट महत्वपूर्ण नहीं है। वहीं 2021 में टी20 वर्ल्ड कप के लिए पाकिस्तान को भारत आना पड़ सकता है। 

न्यूज एजेंसी आईएएनएस को दिए एक इंटरव्यू में गंभीर ने कहा, 'मैंने देश के लिए खेलकर किसी पर उपकार नहीं किया है। लेकिन अगर आप किसी ऐसे व्यक्ति को देखें जो हमारे सीमाओं की सुरक्षा कर रहे हैं सियाचिन या अन्य पाकिस्तानी बाॅर्डर पर, वह इस देश के महान नायक हैं।' उन्होंने कहा, 'मैं इस बात पर एकदम स्पष्ट हूं, जब मैं राजनीति में था और राजनीति में नहीं था तब भी मेरे यही विचार थे।' 

भारत और पाकिस्तान के बीच फिर से क्रिकेट शुरू करने को लेकर गंभीर ने कहा, 'क्रिकेट इतना महत्वपूर्ण नहीं है। हमारे सैनिकों का जीवन उससे ज्यादा महत्वपूर्ण है। वह अपने जीवन का को दांव पर लगाकार हमारी सुरक्षा करते हैं।' 39 वर्षीय पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने कहा जबतक क्राॅस बाॅर्डर आतंकवाद नहीं रुकता तब क्रिकेट की बात करने को कोई मतलब नहीं बनता है। गंभीर ने 2019 में भाजपा के टिकट पर दिल्ली से चुनाव लड़ा था। वह मौजूदा समय में सांसद की भी भूमिका निभा रहे हैं। 

From around the web