anant tv
anant tv

पदाधिकारियों, मोर्चा-प्रकोष्ठ अध्यक्ष, जिला अध्यक्ष, प्रभारियों की बैठक संपन्न

अनोखे लाल द्विवेदी विशेष संवाददाता भोपाल मध्यप्रदेश |
 
bjp
भोपाल। हमारी कार्यशैली और कार्यपद्धति विशिष्ट है। यह बात हमारे विपक्षी भी मानते हैं। हमारी यह कार्यपद्धति सभी कार्यकर्ताओं तक पहुंच सके, इसके लिए प्रशिक्षण वर्ग जरूरी हैं। हमने बहुत अच्छे तरीके से मंडलों के प्रशिक्षण वर्ग आयोजित किए हैं, अब हमें 1 से 6 दिसंबर के बीच जिला स्तर के प्रशिक्षण आयोजित करना है। सभी पदाधिकारी इसकी कार्ययोजना तैयार कर लें। यह बात राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री एवं प्रदेश प्रभारी  शिवप्रकाश जी, प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव, प्रदेश सह प्रभारी श्रीमती पंकजा मुंडे, प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा, प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत एवं सह संगठन महामंत्री हितानंद जी ने पदाधिकारियों, मोर्चा-प्रकोष्ठ अध्यक्ष, जिला अध्यक्ष, प्रभारियों को संबोधित करते हुए कही। बैठक के दौरान मुख्यमंत्री  शिवराजसिंह चौहान भी मंचासीन रहे।  
हमारी लड़ाई कथित सेक्युलर और देश तोड़ने वाली ताकतों से हैः शिवप्रकाश जी
बैठक को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्रीशिवप्रकाश जी ने कहा कि 1990 से पहले तक कांग्रेस देश की राजनीति का केंद्र बिंदु थी और सभी दल उसे हटाने के लिए प्रयास करते रहते थे। अब भाजपा राजनीति के केंद्र में है और अन्य दल उसे हटाने के लिए एकत्र हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के जमाने में लड़ाई राजनीतिक दलों के बीच होती थी, लेकिन अब यह लड़ाई फोर्सेज के बीच है। इसमें एक तरफ राष्ट्रीयता को समर्पित भाजपा है, तो दूसरी तरफ राष्ट्रीयता के विपरीत विचार रखने वाली, कथित सेक्युलर और देश तोड़ने वाली ताकतें हैं। इस लड़ाई में सिर्फ राजनीतिक तैयारी से काम नहीं चलेगा, हमें इन ताकतों के हथियारों, इनके षडयंत्रों को समझना होगा। श्री शिवप्रकाश ने कहा कि प्रधानमंत्री जी का मन की बात कार्यक्रम प्रत्येक बूथ को एक्टिव करने का अच्छा साधन हो सकता है। उन्होंने कहा कि हमें अपने संगठन को समाज के सहयोग से चलाना है, इसलिए समाज के सहयोग से समर्पण निधि एकत्र करें। शिवप्रकाश जी ने कहा कि हमारी केंद्र और राज्य सरकार की योजनाएं हमारी ताकत हैं, ये योजनाएं नीचे तक कैसे पहुंचे, इसकी चिंता सभी को करना चाहिए।

प्रवास हर लक्ष्य को हासिल करने का साधनः मुरलीधर राव

बैठक को संबोधित करते हुए पार्टी के प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव ने कहा कि प्रवास हर लक्ष्य को प्राप्त करने का साधन है, यह हमारी कार्यप्रणाली के इंजन का केंद्रीय तत्व है। इसलिए हर स्तर के पदाधिकारी प्रवास पर जोर दें और इस संबंध में पार्टी के दिशा-निर्देशों पर पूरी तरह से अमल करें। श्री राव ने कहा कि जिन जिलों में, कार्यसमिति, मोर्चा-प्रकोष्ठों का गठन बाकी है, उसे समय सीमा में प्राथमिकता के आधार पर पूरा करें। श्री राव ने कहा कि कार्यकर्ताओं, कार्यसमिति सदस्यों के बीच कार्य का विभाजन करें ताकि हर काम के लिए कार्यकर्ता और हर कार्यकर्ता को उचित काम मिल सके। उन्होंने बैठक में उपस्थित पदाधिकारियों से कार्यसमितियों के गठन, प्रवास कार्यक्रम आदि की जानकारी भी ली।

बूथ रचना के दम पर ही भाजपा इतनी बड़ी पार्टी बनी हैः पंकजा मुंडे
बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश सह प्रभारी श्रीमती पंकजा मुंडे ने कहा कि हमारी सभी बैठकों और वर्गों में बूथ को मजबूत करने की बात की जाती है। हो सकता है, कुछ जगहों पर या कुछ कार्यकर्ताओं को यह काम कठिन लगता हो, लेकिन बूथ रचना का काम बहुत महत्वपूर्ण है। इसी के दम पर आज भाजपा इतनी बड़ी पार्टी बनी है। श्रीमती मुंडे ने राजनीति में सफलता के लिए प्रतिमा, भूमिका और गंतव्य की भूमिका पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हमारा लक्ष्य सत्ता हासिल करना नहीं है और न ही हम सत्ता से संतुष्ट होते हैं। हमारा लक्ष्य अंत्योदय यानी अंतिम पायदान के व्यक्ति का कल्याण है। उन्होंने कहा कि आज हमारे विपक्षी भी कहते हैं कि भाजपा एक अनुशासित पार्टी है और कार्यकर्ताओं को अनुशासन सिखाने, उन्हें प्रशिक्षित करने में इस तरह की बैठकों, वर्गों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।
टीम भावना से ही पार्टी को मिल रही सफलताः विष्णुदत्त शर्मा
बैठक की प्रस्तावना रखते हुए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि पार्टी टीम भावना से काम कर रही है और इसी से सफलता मिलती है। हाल ही में हुए चार में से तीन उपचुनावों में हमने सफलता प्राप्त की है, इस हेतु आप सभी कार्यकर्ता बधाई के पात्र है तथा मतदाताओं का हृदय से आभार है। हम इसे अधिक ताकत तथा गहराई देने का प्रयास कर रहे हैं। श्री शर्मा ने कहा कि हम सभी ने मिलकर ऐतिहासिक काम किए हैं। पार्टी संगठन ने सरकार के साथ समन्वय करके वेक्सीनेशन अभियान में सफलता हासिल की। भगवान बिरसा मुंडा की जयंती पर इतना भव्य आयोजन किया। अब हम टंट्या मामा के सम्मान में भी ऐसा ही कार्यक्रम आयोजित करने जा रहे हैं। श्री शर्मा ने कहा कि प्रदेश के सभी मंडलों में प्रशिक्षण कार्यक्रम काफी अच्छे रहे हैं, अब हम 1 से 6 दिसंबर तक सभी जिलों में प्रशिक्षण आयोजित करेंगे। इसी दौरान सभी जिलों की कार्यसमितियों की बैठकें भी होंगी। इसके बाद 12 दिसंबर को एक ही दिन में सभी मंडलों की कार्यसमितियों की बैठकें भी होंगी। श्री शर्मा ने कहा कि संगठन की मजबूती के लिए जिले के प्रभारी मंडल स्तर तक लगातार प्रवास करें। श्री शर्मा ने कहा कि संगठन के विस्तार तथा युवाओं को पार्टी से जोड़ने में हमारे मोर्चा, प्रकोष्ठों की क्या भूमिका हो सकती है, इस पर विचार करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि यह संगठन शिल्पी स्व. कुशाभाऊ ठाकरे का जन्मशताब्दी वर्ष है, जिसे हमें संगठन की दृष्टि से ऐतिहासिक बनाना है। श्री शर्मा ने प्रदेश कार्यसमिति की बैठक की जानकारी भी विस्तार से दी।
निर्धारित तिथियों पर ही हों पार्टी के कार्यक्रमः सुहास भगत
बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश संगठन महामंत्री श्री सुहास भगत ने कहा कि आगामी समय के लिए पार्टी ने अनेक कार्यक्रम तय किए हैं। ये सभी कार्यक्रम अपनी निर्धारित तिथि पर आयोजित किए जाएं। श्री भगत ने कहा कि आगामी समय में जिला कार्यसमितियों की बैठकें आयोजित की जाएंगी और इन बैठकों में अपेक्षित पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं की सक्रिय भागीदारी हो सके, इसके लिए जरूरी है कि वे बैठकों में पूरे समय उपस्थित रहें। उन्होंने कहा कि जिला स्तर पर जो प्रशिक्षण आयोजित किए जा रहे हैं, उनमें जिला प्रभारियों की उपस्थिति आवश्यक है। श्री भगत ने कहा कि स्व. कुशाभाऊ ठाकरे के जन्मशताब्दी वर्ष में पार्टी ने विस्तारक योजना के लिए 20 से 30 जनवरी का समय तय किया है। इसमें पूरे प्रदेश में 20 हजार विस्तारक निकाले जाएंगे। सभी विस्तारक हर बूथ पर एक दिन का समय दें और हम सभी को भी इस अभियान में 100 घंटे का समय देना है।  
कार्यकर्ताओं को कार्यपद्धति से अवगत कराने प्रशिक्षण जरूरीः हितानंद जी
बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश सह संगठन महामंत्री हितानंद जी ने कहा कि हमारी कार्यपद्धति कार्यकर्ताओं तक पहुंच सके, इसके लिए प्रशिक्षण आवश्यक है। हमने व्यवस्थित रूप से मंडल के प्रशिक्षण आयोजित किए, जिसके हमें अच्छे परिणाम मिले हैं। अब हम 1 से 6 दिसंबर तक जिलों में प्रशिक्षण आयोजित करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि ये प्रशिक्षण तीन दिन के होंगे, जिनमें से ढाई दिन का समय प्रशिक्षण के लिए तथा आधा दिन का समय कार्यसमिति की बैठक के लिए रखा गया है। उन्होंने जिन विषयों का प्रशिक्षण दिया जाना है, उनकी जानकारी भी बैठक में प्रस्तुत की।

From around the web