हरिद्वार : कुंभ में दिव्य व भव्य रूप में दिखेंगी हर की पैड़ी

हरिद्वार : कुंभ में दिव्य व भव्य रूप में दिखेंगी हर की पैड़ी

 
हरिद्वार : कुंभ में दिव्य व भव्य रूप में दिखेंगी हर की पैड़ी

श्री गंगा सभा के महामंत्री तन्मय वशिष्ठ ने कहा है कि कुंभ मेला में हर की पैड़ी क्षेत्र के सभी मंदिर एक रंग में रंगे नजर आएंगे। साथ ही मंदिरों के पुजारी भी एक जैसी वेशभूषा में दिखेंगे। इसके प्रयास शनिवार से ही शुरु कर दिए गए है। छोटी छोटी बातों का भी ध्यान रख रहे है। पूरी दुनिया को हर की पैड़ी नई रूप में दिखेगी। धार्मिक मान्यताओं के अनुरूप ही रंगों का प्रयोग होगा। 

शनिवार को पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में तन्मय ने कहा कि हर की पैड़ी को भव्य व दिव्य स्वरूप प्रदान किया जा रहा है। जिससे कुंभ में आने वाला श्रद्धालु यहां से मंत्रमुग्ध होकर लौटे। तन्मय ने कहा कि  कुंभ 2021 में हरिद्वार शहर को नया रूप दिया जा रहा है। रंग व रोशनी की दिव्य व भव्यता में विशेष भूमिका होती है।

तन्मय ने कहा कि हर की पैडी के सभी मंदिरों में भगवा व पीला रंग उपयोग किया जायेगा। जैसे पुरोहितों के तख्त व छतरी भी इसी रंग में रंगी गई है। इन दिनों वह आकर्षण का केंद्र भी बनी है। ऐसे ही रंगों में मंदिरों को रंगा जाएगा। सभी पुजारी एक वेशभूषा में दिखे। इसके लिए जल्द ही ड्रेस कोड लागू कर दिया जाएगा। सभी पजारी व तख्त में बैठने वाले एक अलग ड्रेस कोड में दिखेंगे। ड्रेस कोड से सभी में एक समानता भी आयेगी। साथ ही इससे श्रद्धालुओं के भाव और अधिक आस्था बढ़ेगी। तन्मय ने कहा कि मेला क्षेत्र के लिए मेला प्रधिकरण की ओर से सेंट्रल साउंड सिस्टम की व्यवस्था की जा रही है। श्री गंगा सभा का प्रयास है कि सिस्टम के माध्मय से गंगा आरती का प्रसारण उसमे किया जाए। 

हाइड्रोलिक चेयर व चेजिंग रूम बनाए
हर की पैड़ी पर स्नान करने के बाद महिला श्रद्धालओं के लिए चैजिंग रूम बनाए गए है। साथ ही दिव्यांग व बुजुर्गों के लिए भी हाइड्रोलिक चेयर लगाई गई है।   

पुराने स्वरूप में दिखेगा मंदिर
हर की पैड़ी पर 23 साल से एक अधूरा मंदिर बना था। कोर्ट के आदेश पर इस मंदिर को इसके पराने स्वरूप में लाया जा रहा है राजस्थान से नक्काशी वाले पत्थर मंगाए गए है। जल्द ही ये मंदिर अपने पराने स्वरूप में नजर आने लगेगा। 

हर की पैड़ी हुआ तारमुक्त क्षेत्र
भूमिगत फीटिंग से हर की पैड़ी क्षेत्र पूरा तारमु्क्त हो गया है। अलग अलग स्थानों पर चार एलईडी स्क्रीन लगाई गई है। कही से भी श्रद्धालु स्क्रीन पर आरती देख सकता है। 

श्रद्धालुओं के पैर धोने को बनी क्यारी
हर की पैड़ी क्षेत्र में श्रद्धालुओं को पैर धोने के लिए क्यारी बनाई गई है। साथ ही हर की पैड़ी को जूता मुक्त क्षेत्र बना दिया गया है।

From around the web